राष्ट्रीय

भय्यूजी महाराज सुसाइड मामले में हो रहें नए ख़ुलासे

सुसाइड से पहले के वीडियो और बेटी के आरोपों से सस्पैंस गहराने लगा है।

भय्यूजी महाराज की अचानक आत्महत्या की खबर ने सबको हिला कर रख दिया हैं भय्यू महाराज की शख्सियत और उनका किरदार समाज के लिए मिसाल था, लेकिन अचानक उनकी मौत, अब मिस्ट्री में बदलती जा रही, सुसाइड से पहले के वीडियो और बेटी के आरोपों से सस्पैंस गहराने लगा है।

भगत इस वाक्या को साजिश करार दे रहे है। इसी बीच सुसाइड नोट से एक बड़ा खुलासा हुआ है कि भय्यूजी महाराज ने अपने मरने के बाद आश्रम और वित्‍तीय शक्‍तियों की जिम्‍मेदारी सेवादार विनायक को सौंपी। सुसाइड नोट में साफ लिखा है कि उनके आश्रम और उससे जुड़ी सभी वित्‍तीय शक्‍तियां उनके वफादार सेवादार विनायक ही उठाएंगे। हालांकि भय्यूजी महाराज के सुसाइड करने के पीछे पारिवारिक कलह को वजह बताया जा रहा है। हालांकि इसके लिए किसी को भी जिम्‍मेदार नहीं बताया गया है।

सुसाइड नोट में क्या लिखा

एक छोटी सी डायरी के पन्नों पर लिखे इस सुसाइड नोट से पता चलता है कि भय्यू महाराज कुछ दिनों से बेहद तनाव में थे। सुसाइड नोट के अनुसार लिखा गया कि परिवार के दायित्व को संभालने के लिए किसी को वहां होना चाहिए। उन्होंने लिखा ‘मैं बेहद परेशान होकर तनाव के साथ जा रहा हूं।’ वही लिखा कि उनके आश्रम और उससे जुड़ी सभी वित्‍तीय शक्‍तियां उनके वफादार सेवादार विनायक ही उठाएंगे।


किसी महिला हुईं थी मुलाकात

सुसाइड स्थल से एक नोट मिला था जिसमें उन्होंने तनाव को इस फैसले की वजह बताया था, लेकिन कहानी अब घूम रही है, क्योंकि सुसाइड से एक दिन पहले का जो वीडियो सामने आया है उसमें भय्यू जी महाराज किसी महिला से मुलाकात कर रहे हैं, किसी होटल में एकांत में ये मुलाकात चल रही है, इसी के आधार पर पुलिस ने जांच का रुख मोड़ दिया है, और हर पहलू की जांच शुरू कर दी है।


जल्दबाजी में किसी नतीजे पर नहीं पहुंचेंगे : पुलिस

इंदौर रेंज के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने बताया कि भय्यू महाराज की खुदकुशी के मामले की शुरूआती जांच में पारिवारिक कलह की बात जरूर सामने आयी है। लेकिन हम इसके अलावा कुछ अन्य पहलुओं पर भी बारीकी से जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम इस मामले में जल्दबाजी में किसी नतीजे पर नहीं पहुंचेंगे। पुलिस के एक अन्य आला अधिकारी ने बताया कि इंदौर बाइपास रोड के जिस बंगले में भय्यू महाराज ने कल रिवॉल्वर से गोली मारकर खुदकुशी


पहली पत्नि के बच्चे भी थे तनाव की वजह !

भय्यू महाराज की पहली पत्नि माधवी की नवंबर 2015 में दिल के दौरे के कारण मौत हो गयी थी। इसके बाद उन्होंने वर्ष 2017 में 49 साल की उम्र में मध्य प्रदेश के शिवपुरी की डॉ. आयुषी शर्मा के साथ दूसरी शादी की थी। भय्यू महाराज के स्थानीय आश्रम में उनके नजदीक रहे लोगों का दावा है कि आध्यात्मिक संत की पहली पत्नि की युवा बेटी कुहू और उनकी दूसरी बीवी आयुषी के बीच जरा भी नहीं बनती थी। इन लोगों की मानें, तो कुहू और आयुषी के बीच विवाद के कारण कई बार अप्रिय स्थिति भी बनी जिससे भय्यू महाराज जाहिर तौर पर तनाव में रहते थे। की, वहां से सीसीटीवी कैमरों के फुटेज के साथ आध्यात्मिक संत का मोबाइल और कुछ अन्य गैजेट जब्त किये गये हैं। इनकी जांच की जा रही है।

भय्यूजी महाराज ने मंगलवार दोपहर को इंदौर के सिल्वर स्प्रिंग स्थित अपने बंगले पर खुद को गोली मार ली थी। भय्यूजी महाराज को उनके परिजन निजी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बाद में पुलिस उनके बंगले पर पहुंची, जहां एक सुसाइड नोट मिला है।

भय्यू महाराज की अचानक आत्महत्या की खबर ने सबको हिला कर रख दिया हैं भय्यू महाराज की शख्सियत और उनका किरदार समाज के लिए मिसाल था, लेकिन अचानक उनकी मौत, अब मिस्ट्री में बदलती जा रही, सुसाइड से पहले के वीडियो और बेटी के आरोपों से सस्पैंस गहराने लगा है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
भय्यूजी महाराज सुसाइड मामले में हो रहें नए ख़ुलासे
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
jindal

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.