छत्तीसगढ़राज्य

भाजपा और ईवीएम की सुरक्षा पर बरसे पीसीसी चीफ,जानें किसे दी खुली चुनौती

बीजेपी के लोग किसी भी स्तर पर जा सकते हैं, लोकतंत्र में उनका भरोसा नहीं है

रायपुर:प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने एक बार फिर ईवीएम मशीन की सुरक्षा और भाजपा पर जमकर हमला बोला है .इसके साथ ही भूपेश बघेल ने प्रदेश के अधिकारियों को खुली चुनौती भी दी है.

भूपेश बघेल ने राजीव भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि बीजेपी के लोग किसी भी स्तर पर जा सकते हैं. लोकतंत्र में उनका भरोसा नहीं है. वे लोग दंगा भी करा सकते हैं.

हत्या भी करा सकते हैं. झीरम घाटी इसी सरकार के कार्यकाल के दौरान हुई. रिंकू खनूजा की हत्या यहीं हुई. भाजपा सत्ता पाने कुछ भी कर सकती है . उन्होंने कहा कि मतगणना को अब से कुछ ही दिन शेष बचे हैं .ऐसे में ईवीएम मशीन को स्ट्रांग रूम से मतगणना स्थल तक ले जाने के लिए कोई तगड़ी सुरक्षा व्यवस्था नहीं की गई है .

इस दौरान मशीन बदले जाने की भी सम्भावना है .भूपेश ने कहा कि ऐसा कोई मौका नहीं है, जिसकी शिकायत हमने निर्वाचन आयोग में दर्ज नहीं कराई है. हम लगातार शिकायत कर रहे हैं. अमित शाह के रोड शो को लेकर हमने शिकायत की है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं.उल्टा मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दिया गया है. निर्वाचन आयोग के निर्देशों का पालन राज्य के अधिकारी नहीं कर रहे हैं. हालांकि उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि सब अधिकारी नहीं लेकिन कुछ अधिकारी जरूर सरकार के इशारों पर कार्रवाई कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि हमने निर्वाचन आयोग से मांग की है वीवीपीएटी के जरिये मतगणना की जानी चाहिए. मतदान केंद्रवार निर्वाचन आयोग से मत प्रतिशत को लेकर कोई सूचना नहीं मिली है. जनसंपर्क विभाग से मिल रहे आकंड़े और निर्वाचन के आकंडों में अंतर है. यह अंतर 47 हजार मतों का है.

उन्होंने सवाल किया कि मतदाताओं ने मतदान कर लिया तो अंतिम आकंड़ा देने में आयोग को दिक्कत क्यों है. लगता है दाल में कुछ काला है. इसके अलावा उन्होंने स्ट्रांग रूम में एक्स्ट्रा इवीएम रखे जाने की बात कहते हुए कहा कि मतदान केंद्रों तक कॉउटिंग हाल में इवीएम ले जाने के दौरान मशीन बदलने की आशंका बनी रहेगी.बघेल ने कहा कि धमतरी में जिस तरीके से कलेक्टर ने लापरवाही की थी.

हमारी शिकायत के बाद तहसीलदार को निलंबित किया गया लेकिन कलेक्टर पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. बालोद से भी शिकायतें आई है. कल रात में दुर्ग में छह विधानसभा के सीसीटीवी कैमरे बंद हो गए थे. इसे लेकर कोई जवाब नहीं दिया जा रहा. बेमेतरा में स्ट्रांग रूम की सुरक्षा जिनके जिम्मे दी गई है, वही सुरक्षाकर्मी लैपटॉप लेकर पाए गए. तत्काल उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार किया जाना चाहिए.

यह स्थिति तब है जब यह स्थिति तब है जब हम नजर बनाए हुए हैं. लगातार घटनाएं घट रही है.बघेल ने कहा कि सभी अधिकारियों को मैं चेतावनी देना चाहता हूं कि अधिकारी मतगणना के दिन सीएम हाउस न जाये, हमारे लोग कैमरा लेकर निगरानी करेंगे. हम ऐसे अधिकारियों पर कार्रवाई करेंगे. साथ ही दो दिन पहले आए रमन सिंह के आखिरी गेंद पर छक्का मारने के बयान पर उन्होंने कहा कि हालांकि, अब उनकी (रमन सिंह) उम्र छक्का मारने की नहीं है. लेकिन फिर भी ये षड्यंत्रकारी लोग हैं. हमने कई बार उनके षड्यंत्र का पर्दाफाश किया है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
भाजपा और ईवीएम की सुरक्षा पर बरसे पीसीसी चीफ,जानें किसे दी खुली चुनौती
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags