केरल का बुराड़ी कांड – एक के ऊपर एक दफन मिले, एक परिवार के चार सदस्य

तिरुवनंतपुरम : केरल के इडुक्की जिले में दिल्ली के बुराड़ी कांड जैसा रहस्यमयी मौत का मामला सामने आया है। जहां तोडुपुज़ा इलाके में एक ही परिवार के चार सदस्यों के शव घर के पिछले हिस्से से बरामद हुए। सभी शव एक गड्ढे के अंदर एक के ऊपर एक दफनाए गए थे। पुलिस ने शवों की पहचान कर ली है।

पति-पत्नी समेत दो बच्चों की मिली लाश : मृतकों की पहचान कनत कृष्णनन (52), पत्नी सुशीला सुलेखा (50), बेटी अर्शा (21) और बेटे अर्जुन (19) के रूप में हुई है। इडुक्की जिले के पुलिस अधीक्षक के बी वेणुगोपाल ने बताया कि शवों पर घाव के निशान पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि रविवार से इस परिवार को किसी ने नहीं देखा।

हत्या का शक : शुरुआती जांच को देखते हुए पुलिस को हत्या का शक हो रहा है। वेणुगोपाल ने कहा, ‘हमें लगता है कि ये हत्या का मामला है, जिसके आधार पर हमने जांच शुरू कर दी है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस को अभी तक जांच में कोई सफलता नहीं मिली है।’

कैसे मिली घटना की जानकारी : पिछले तीन दिन से परिवार को गायब देखा, तो पड़ोसियों को शक हुआ। आज सुबह (गुरुवार) पड़ोसी और कुछ रिश्तेदार उनके मकान में पहुंचे, तो उन्हें जमीन और दीवार पर खून के धब्बे दिखाई दिए। जिसके बाद उन्होंने तत्काल पुलिस को इसकी सूचना दी। जब उन्होंने घर की छानबीन करने का फैसला किया, तो उन्हें असामान्य तरीके से ढका हुआ एक गड्ढा मिला। जब उसे खोदा गया तो एक के ऊपर एक शव बरामद हुए। शवों पर धार-दार हथियार से हमले के निशान थे। घर की दीवार और फर्श पर खून के धब्बों के भी निशान मिले। पुलिस सूत्रों का कहना है कि हथौड़े जैसी किसी भारी वस्तु से उनपर हमला किया गया होगा।

काला जादू करता था मृतक! : इस बीच मृतक कृष्णन के भाई यानजेश्वरन ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से कृष्णन का परिवार रिश्तेदारों से नहीं मिल रहा था। उन्होंने बताया, ‘मैंने दूसरों से सुना था कि कृष्णन काले जादू का अभ्यास करता था।’ इस बीच पुलिस का शक है कि इस पूरे परिवार की हत्या 29 जुलाई के बाद की गई होगी। बता दें कि यह परिवार मुंडनमुडी में एक सूनसान इलाके में रहता था। फिलहाल पुलिस हर पहलु से मामले की जांच में जुटी हुई है।

Tags
Back to top button