भारत माता की जय कहना जुर्म नहीं: अश्विनी चौबे

भागलपुर में तनाव बढ़ाने के बेटे पर लगे आरोप के बचाव में आए केंद्रीय मंत्री

ई दिल्ली। भागलपुर में दंगे भड़काने के मामले में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने अपने बेटे अर्जित शाश्वत चौबे का बचाव करते हुए कहा कि अर्जित ने कुछ भी गलत नहीं कहा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत माता, वंदे मातरम, जयश्रीराम के नारे लगाना अपराध नहीं है। उल्टे उन्होंने सवाल पूछते हुए पूछ कि क्या भारत माता की जय और जय श्रीराम बोलना अपराध है?

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आप तेजस्वी यादव से पूछें, बिहार में जो भी हो रहा है वो राजद- कांग्रेस के अपराधियों से षड़यंत्र के चलते हो रहा है और वही हिंसा भड़का रहे हैं। भागलपुर की घटना भी उसी का परिणाम है।

अश्विनी चौबे ने कहा कि शाश्वत के खिलाफ एफआईआर केवल एक कूड़े के टुकड़े की तरह है जिसे भ्रष्ट अधिकारियों ने रजिस्टर किया था। उन्होंने कहा कि नाथनगर थाने के इंस्पेक्टर और डीएसपी पर कार्रवाई होनी चाहिए।

शस्त्र पूजा की परंपरा, इसमें कुछ भी गलत नहीं

अश्विनी चौबे ने कहा कि शस्त्र पूजन की परंपरा है। उस दिन जब शोभा यात्रा हुई उस दिन कोई शस्त्र या हथियार नहीं था। रविवार को शस्त्र पूजा थी और सबको तलवार भेंट की गई थी। विधायकों को भी और नेताओं को भी। अर्जित को भी तलवार दी गई तो उसने तलवार उठाई उसमें कौन सी बड़ी बात थी?

उन्होंने कहा कि भागलपुर में हिंदु और मुसलमान एक रहेंगे, लेकिन कांग्रेस और राजद के गुंडे भागलपुर में उपद्रव करा रहे हैं। राज्य के मुख्यमंत्री और सरकार फेल नहीं है।

ये लगाए गए हैं आरोप

बता दें कि अर्जित शाश्वत पर प्रशासन की इजाजत के बिना पिछले रविवार को शोभा यात्रा निकाली और भड़काऊ भाषण दिए जाने के आरोप लगाए गए हैं। इसकी वजह से भागलपुर के नाथनगर में सांप्रदायिक तनाव बन गया था। हालांकि, अर्जित की तरफ से कहा गया कि उन्होंने शोभा यात्रा निकालने की जानकारी प्रशासन को दी थी, लेकिन प्रशासन उस पर मौन रहा।

advt

Back to top button