छत्तीसगढ़राजनीतिरायपुर

भारतीय जनता युवा मोर्चा ने रायपुर में मुख्यमंत्री बघेल का पुतला जलाया,ब्यान पे जताया विरोध

आक्रोशित भाजयुमो कार्यकर्ता बुढ़ेश्वर चौक बुढ़ा तालाब पहुंचने लगे और जमकर नारेबाजी करते हुए शाम 04 बजे मुख्यमंत्री का पुलता फूंका।

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

रायपुर। भारतीय जनता युवा मोर्चा राजधानी रायपुर के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा भाजपा के पूर्वजों को अंग्रेजों का मुखबीर बताने पर जमकर नाराजगी जाहिर की है। मुख्यमंत्री के बयान से नाराज व आक्रोशित भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने सोमवार को राजधानी रायपुर स्थित बुढ़ेश्वर चौक बुढ़ा तालाब में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन कर विरोध किया। दोपहर 03 बजे से ही आक्रोशित भाजयुमो कार्यकर्ता बुढ़ेश्वर चौक बुढ़ा तालाब पहुंचने लगे और जमकर नारेबाजी करते हुए शाम 04 बजे मुख्यमंत्री का पुलता फूंका।

भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने कहा

भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के झूठ, फरेब और अमर्यादित बयानों से उनकी राजनीतिक गंभीरता पर ही सवाल खड़ा होता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित कांग्रेस के नेताओं को आत्मचिंतन, आत्म मंथन करने की और आईना देखने की आवश्यकता है।

भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने कहा कि कांग्रेस के नेता आईना देखे और जवाब दें कि चीन का आयात शुल्क कम कर राजीव गांधी फाउंडेशन को कैसे लाभ पहुंचाया गया था? कांग्रेस के पूर्वजों ने कैसे चीन के सामने घुटने टेके थे और लगभग 44,000 वर्ग किमी क्षेत्र पर चीन का कब्जा किस मुंह से मंजूर किया था। पाकिस्तान और चीन के साथ खड़े होकर भारतीय सेना का मनोबल तोड़ने वाले आईना देखेंगे तो निश्चित ही उन्हें अपना कुरूपित चेहरा नजर आ जाएगा।

आजादी के बाद किन परिस्थितियों में चीन ने आक्साई चीन हड़प लिया-साहू

भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने कहा कि भाजपा नेताओं पर सवाल उठाने वालों को बताना चाहिए कि उनकी वजह से देश बटा। आजादी के बाद किन परिस्थितियों में चीन ने आक्साई चीन हड़प लिया क्यों और किन परिस्थितियों में नेहरू के कारण भारतीय भूमि पाकिस्तान और चीन के हाथों जाने दी गई? 1948 में भारत को सुरक्षा परिषद् की सदस्यता मिल रही थी लेकिन कम्युनिष्ट चीन से मित्रता के लोभ में पंडित नेहरू ने न केवल राष्ट्रसंघ की सदस्यता हेतु चीन का समर्थन किया बल्कि सुरक्षा परिषद् की जीत चीन को दिलवा दी। उन्होंने कहा कि राजनीतिक चश्में और गांधी परिवार की छाया से बाहर आकर कांग्रेस के मित्रों को आईना देखने व आत्मचिंतन करने की आवश्यकता है।

भाजयुमो जिलाध्यक्ष राजेश पाण्डेय ने

भाजयुमो जिलाध्यक्ष राजेश पाण्डेय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा भाजपा के पूर्वजों पर सवाल उठाने को लेकर कहा है कि 70 वर्ष बीत गए लेकिन कभी नेहरू वंशीय कांग्रेस जो आज भाजपा पर सवाल उठा रही है उनसे कभी कटघरे में खड़ा कर यह नहीं पूछा गया कि स्वतंत्र भारत की सवा लाख वर्ग किमी. जमीन जो चीन और पाकिस्तान के हाथों गवां दी गई उस विषय पर कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के नेताओं ने कितने प्रस्ताव पारित किए या कितने बयान दिए है।

इस मौके पर भाजयुमो जिला प्रभारी योगी अग्रवाल, गोपी साहू, संजूनारायण सिंह ठाकुर, अनुराग अग्रवाल, अमरजीत छाबड़ा, तुषार चोपड़ा, अमित मैशरी, सचिन मेघानी, सजल श्रीवास्तव, उमेश घोरमोड़े, गोरेलाल नायक, विभोर शुक्ला, फणेन्द्र तिवारी, प्रणय तिवारी, राम प्रजापति, विजय व्यास, सौरभ जैन, राहुल राय, दीपक तन्ना, वासु शर्मा, उपेन्द्र त्रिवेदी, अगसर अली, राहुल हरितवाल, विशेष विद्रोही, राहुल जैन, अर्पित सूर्यवंशी, अजय सोनी, अमरनाथ सिंह, विजय लहरवानी, किशोर सोनी, किनसुख बोस, अरविंद ठाकुर, अमित अग्रवाल, योगी साहू, महेन्द्र साहू, गौतम महानंद, रियाज अहमद, संभव शाह, पवन अग्रवाल, अंबर अग्रवाल, मुकेश यादव, दीनू नेताम, राहुल राव, तरूण गुप्ता, सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button