भेज्जी कोंटा के ग्रामीणों को राहत देने पहुंचा पुलिस- प्रशासन

कलेक्टर और डीआईजी मिले ग्रामीणों से जाना हाल

अनुराग शुक्ला

जगदलपुर. सुकमा जिले के अति संवेदनशील इलाके कोंटा और भेज्जी में पुलिस और प्रशासन की दस्तक बढ़ रही है। इलाके में वारदातों के बीच फोर्स का मूवमेंट बढ़ा है। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य और डीआईजी सुंदरराज पी के इस इलाके में ग्रामीणों के बीच पहुंचने से ग्रामीण काफी हर्षित नजर आए। एक तरफ कलेक्टर ने जहां इलाके के विकास कार्यों की समीक्षा की वहीं डीआईजी ने इस क्षेत्र के ग्रामीणों से मुखर होकर कहा कि डरने जैसी कोई बात नहीं है। पुलिस आपके साथ है। दक्षिण सुकमा क्षेत्र के दोरनापाल, इंजरम, भेज्जी, कोंटा इलाके का अधिकारियों ने भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान क्षेत्रवासियों से मुलाकात करके उनके समस्याओं की जानकारी लेते हुए निराकरण करने की कोशिश की गई। कोंटा शबरी नदी के ऊपर निर्माणाधीन पुल का भी अवलोकन करते हुए कार्य को समय सीमा में पूर्ण किये जाने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दी गई। इंजरम भेज्जी सीमेंट क्रांकीट सड़क निर्माणकार्य का भी अवलोकन किया गया।
यहां उल्लेखनीय है कि नक्सलियों की तमाम विरोध के बावजूद जनहित में सुरक्षा बल एवं स्थानीय प्रशासन द्वारा उक्त सड़क कार्य को पूर्ण करने हेतु आवश्यक कदम उठाए जा रहे है। सुरक्षा बलों द्वारा क्षेत्र के विकास हेतु समर्पित हो कर किए जा रहे कार्य की क्षेत्रवासियों ने सराहना की।
भ्रमण के दौरान उप पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी. एवं कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य जनता से संपर्क करते हुए शासन के कल्याणकारी विकास योजना की अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील की  भ्रमण के दौरान केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के उप पुलिस महानिरीक्षक कोंटा क्षेत्र सुधांशु व  वरिष्ठ अधिकारीगण, पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Back to top button