मित्रता, आदर और विश्वास का प्रतीक है भोजली पर्व

जैजैपुर : भोजली का पर्व नगर पंचायत जैजैपुर में शांति पूर्वक मनाया गया भोजली का पर्व परंपरागत चलते आ रहा है जिसमें महिलाएं भोजली विसर्जन करती हैं और नगर का सुख समृद्धि की कामना करते हैं. वहीं पर महिलाएं एवं पुरुष आपस में इस भोजली पर्व को लेकर आपस में मितान बदते हैं इससे यह एक प्रेमभाव को उजागर करती है यह पर्व जो कि अब विलुप्त होने के कगार पर है। लेकिन नगर पंचायत जैजैपुर में यह भौजली की परंपरा पूर्व से चली आ रही है जो आज सैकड़ों की संख्या में महिलाएं भोजली अपने सिर में लेकर जयजयपुर के बंधवा तालाब में विसर्जन किए जिसमें उन लोगों को नगर पंचायत की ओर से पुरस्कार वितरण किया गया, जिसमें भुनेश्वरी चंद्रा को प्रथम पुरस्कार तारा चंद्रा को द्वितीय पुरस्कार एवं तृतीय पुरस्कार प्रेम बाई साहू को मिला है वहीं पर हर जनता के चेहरे पर मुस्कुराहट एवं मितान का भाव देखा गया वहीं पर हमारे नगर पंचायत के अध्यक्ष श्रीमती मीना चंद्रा ने बताया कि यह पर्व हमें मितान बनने एवं मित्रता का पर्व है ।को करने के लिए क्या फरवरी का बड़े जो परंपरागत ढंग से मनाया जा रहा है। जो आज बच्चो से भुजुर्ग के चेहरों पर रौनकता दिखाई दिया।

Back to top button