नए फ्यूजन के साथ भोजपुरी क्वीन कल्पना पटवारी का बिरहा SONG देखें वीडियों

भोजपूरी गानों का दबदबा उसके हिट्स को देखकर अंदाज़ा लगाया जा सकता हैं और ऐसी एक भोजपूरी सिंगर हैं जिन्होंने कोक स्टूडियो में एक ऐसा फ्यूज़न पेश किया हैं जिसे काफी पसंद किया जा रहा हैं,भोजपूरी म्यूजिक को शिखर पर ले जानी वाली कल्पना पटवारी ने लोक गीत ‘बिरहा’ का आधुनिक संगीत प्रस्तुत किया हैं

कल्पना पटवारी असम की रहने वाली लोक गायिका हैं और उन्होंने उस्ताद गुलाम मुस्तफा से संगीत की शिक्षा ली है. कल्पना पटवारी की आवाज कमाल है, और उन पर भूपेन हजारिका का काफी प्रभाव माना जाता है. कल्पना ने भोजपुरी संगीत को अलग पहचान दिलाई और उन्होंने अश्लीलता से कोसों दूर ले जाकर खुद के साथ ही भोजपुरी संगीत को भी एक नये मुकाम पर पहुंचाया. कल्पना को ‘भोजपुरी क्वीन’ भी कहा जाता है. कल्पना पटवारी चार साल की उम्र से ही परफॉर्म कर रही हैं.

सोनिया सहगल के साथ कल्पना पटवारी की जुगलबंदी को खूब पसंद किया गया था, और इस वीडियो को अभी तक यूट्यूब पर लगभग 22 लाख बार देखा जा चुका है. जुदाई और दर्द का गीत है, लेकिन उसे उन्होंने आधुनिक टच दे दिया है. ‘बिरहा’ परंपरा को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर ले जाने का श्रेय कल्पना पटवारी को ही जाता है.

39 वर्षीया कल्पना पटवारी का जन्म असम के बारपेटा में हुआ था और वे इंग्लिश लिटरेचर में ग्रेजुटए हैं. कल्पना पटवारी ने लखनऊ से संगीत विशारद भी कर रखा है. कल्पना पटवारी ने लोक संगीत की शिक्षा अपने पिता बिपिन बटवारी से ली है जो खुद भी एक लोक गायक थे.

कल्पना पटवारी को पूर्वी, कजरी, सोहर, विवाह गीत, चैत और नौटंकी गायकी में महारत हासिल है. कल्पना पटवारी ने भिखारी ठाकुर पर भी खूब काम किया है. कल्पना पटवारी बॉलीवुड में भी अपनी गायकी के हाथ दिखा चुकी हैं.

Back to top button