मध्यप्रदेश

भोपालः कबाड़खाने इलाके में RSS बनवा रहा बाउंड्री वॉल, तीन थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू

मामला कबाड़खाना इलाके में जमीन पर बाउंड्री निर्माण से जुड़ा है

भोपालः पुराने भोपाल के 3 थाना क्षेत्रों हनुमानगंज, टीला जमालपुरा और गौतम नगर में रविवार सुबह 9 बजे से अगले आदेश तक कर्फ्यू लागू है। इस इलाके में राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (आरएसएस) बाउंड्री वॉल का निर्माण करवा रहा है। जिस जमीन पर बाउंड्री वॉल का निर्माण करवाया जा रहा है, उस पर दूसरे लोग भी दावा कर रहे हैं। लेकिन संघ इस लड़ाई को कोर्ट से जीत गया है। पुलिस ने 11 थाना क्षेत्रों में धारा 144 लगाई है।

मामला कबाड़खाना इलाके में जमीन पर बाउंड्री निर्माण से जुड़ा है। दरअसल हनुमानगंज कबाड़खाना इलाके में 30 हजार स्क्वॉयर फीट जमीन पर आरएसएस बाउंड्री वॉल बनवा रहा है। कुछ लोगों ने इस पर आपत्ति जताकर इस जमीन को वक्फ बोर्ड की बतायी थी जिसके बाद यह मामला कोर्ट में गया था। कोर्ट से पक्ष में फैसला आने के बाद आरएसएस वहां बाउंड्री करवा रही है।

बाउंड्री निर्माण को लेकर स्थानीय लोगों व समुदाय विशेष के लोगों द्वारा विरोध करने की आशंका जताई जा रही है। इससे शहर की शांति व्यवस्था कानून व्यवस्था न बिगड़े इसे देखते हुए कलेक्टर अविनाश लवानिया ने धारा-144 लगाई दी, जिसके अंतर्गत थाना हनुमानगंज, टीला जमालपुरा और गौतम नगर क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया है।

भोपाल में पुरानी सब्जी मंडी, भारत टॉकीज चौराहा, तलैया थाना क्षेत्र, हमीदिया रोड, अशोक गार्डन शाहजहांनाबाद थाना रोड़, सोफिया कॉलेज रोड, मंगलवारा, स्टेशन बजरिया, निशातपुरा से हनुमानगंज की ओर आने वाले मार्ग प्रभावित रहेगा। इन जगहों पर पुलिस ने बैरिकेटिंग की है। वहीं इन इलाकों में आने वाले लोगों को पुलिस बाहर से ही लौटा रही है।

भोपाल डीआईजी इरशाद वली ने कहा कर्फ्यू के साथ ही पुराने भोपाल के रास्‍तों को सील कर दिया गया है। भोपाल के आसपास वाले जिलों से भी अतिरिक्त पुलिस बल को बुलवाया गया है। लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत दी जा रही है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक उपेंद्र जैन ने बताया कि पुलिस प्रशासन ने कर्फ्यू लगाने की व्यवस्था ऐहतियातन की है और शहर में कहीं पर तनाव जैसी स्थिति नहीं है। पुलिस प्रशासन स्थिति पर नजर रखे हुए है। संबंधित क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button