छत्तीसगढ़

जन आस्था से जुड़े भोरमदेव महोत्सव का आयोजन 3 एवं 4 अप्रैल को

कवर्धा : जन आस्था से जुड़े धार्मिक, एतिहासिक और पुरातात्विक महत्व के भोरमदेव महोत्सव का आयोजन तीन और चार अप्रैल को होगा। इसका आयोजन जिला प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। महोत्सव के दौरान शाम 4 बजे से छत्तीसगढ़ के लोक कलाकारों द्वारा शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। तीन अप्रैल को जिले के स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम के बाद पंडवानी, कत्थक नृत्य, वाद्ययंत्र, जसगीत, ओडिसी नृत्य, शिव प्रस्तुति एवं गीत, संगीत, नृत्य की प्रस्तुति होगी।

भोरमदेव महोत्सव में चार अप्रैल को शालेय छात्र-छात्राओं द्वारा लोक नृत्य-सामूहिक नृत्य के बाद कत्थक नृत्य, भरत नाट्यम, जसगीत, सूफी गजल व भजन गायन के साथ ही नाटक “कबीर के राम“ की प्रस्तुति होगी। उल्लेखनीय है कि भोरमदेव महोत्सव का आयोजन प्रति वर्ष चैत्र माह के कृष्ण पक्ष तेरस को किया जाता है। यह आयोजन वर्ष 1995 से निरंतर हो रहा है। भोरमदेव महोत्सव के मंच पर छत्तीसगढ़ के लोक कलाकारों तथा राष्ट्रीय स्तर के ख्यातिनाम कलाकारों को कला प्रदर्शन का अवसर दिया जाता है।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: