पीएम के दौरे से पहले कांग्रेस नेताओं की गिरफ्तारी पर भड़के भूपेश बघेल

इस कार्रवाई से नाराज कांग्रेस ने इसे दमन की राजनीति करार दिया है।

रायपुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के दिन प्रदेश के कई जगहों पर कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार करने पर कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं में जबरदस्त आक्रोश है।

इस कार्रवाई से नाराज कांग्रेस ने इसे दमन की राजनीति करार दिया है। इसी कड़ी में सैकड़ों छात्रों और युवाओं की गिरफ्तारी पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि मोदी और रमन को अब छात्रों और युवाओं से डर लगने लगा है।

प्रजातंत्र में विरोध की अभिव्यक्ति की सबको आजादी है। कल आधी रात के बाद से रमन सिंह की पुलिस का दमन चक्र शुरु हुआ जब भिलाई और दुर्ग में एनएसयूआई के छात्रों और छात्रों के न मिलने पर उनके नाते-रिश्तेदारों को पुलिस ने थानों में बुलाकर बैठाना शुरु किया।

उन्होंने बताया कि किसी के मां-बाप को उठा लिया तो किसी के भाई और किसी के चाचा को. एक दिव्यांग को भी नहीं छोड़ा। यह दमन का चक्र यहीं रुक जाता तो ठीक भी था, इसके बाद पुलिस ने रायपुर, भिलाई और दुर्ग में भी कांग्रेस, युवक कांग्रेस और एनएसयूआई के नेताओं को थाने बुलाकर बैठाकर रखने का सिलसिला जारी रखा हुआ है।

भूपेश ने कहा कि यह हिटलर का दमन मॉडल है, जिसमें लोकतांत्रिक ढंग से विरोध करने का भी कोई स्थान नहीं है। ऐसा दमन चक्र तो अंग्रेज़ों के समय आज़ादी की लड़ाई लड़ने वालों के साथ चलाया जाता था।

रमन सिंह एक डरे हुए राजनेता हैं यह तो सबको पता था लेकिन वे इतने डरे हुए हैं यह नहीं मालूम था। मोदी और रमन की नीतियों से परेशान युवा अगर विरोध करना चाहते थे तो उसे इस तरह के दमन से नहीं कुचला जा सकता।

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि कांग्रेस ने किसी तरह के विरोध प्रदर्शन की न तो घोषणा की थी और न ऐसी कोई योजना थी। उन्होंने कहा है कि यदि रमन सिंह इसी तरह का दमन राज चलाना चाहते हैं तो समझ लें कि प्रधानमंत्री कोई आखिरी बार छत्तीसगढ़ नहीं आए हैं,

वादा रहा कि अगली बार कांग्रेस की ओर से ऐसा स्वागत होगा, जो प्रधानमंत्री और रमन सिंह दोनों के लिए यादगार रहेगा। सरकार ने हमें यदि प्रधानमंत्री का ठीक से स्वागत करने की चुनौती दी है तो अगली बार ऐसा ही होगा।

1
Back to top button