छत्तीसगढ़राष्ट्रीय

वोरा के सामने भी दिखी कांग्रेसियों की गुटबाजी, भूपेश ने किया इंकार

रायपुर: बुधवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा दिवाली मनाने छत्तीसगढ़ पहुंचे। माना एयरपोर्ट पर उनका जश्न-ए-दिवाली जैसा इस्त$कबाल हुआ। यहां पहुंचे बड़ी संख्या में कांग्रेस के नेताओं की गुटबाजी साफ-साफ देखने को मिली । सभी ने अपने-अपने खेमे के बीच जमकर शक्ति प्रदर्शन किया। शहर अध्यक्ष विकास उपाधयाय के समर्थक, महासमुंद के पूर्व जिला अध्यक्ष , कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सत्यनारायण शर्मा के समर्थक अपने-अपने नेताओं के समर्थन में नारे लगाते रहे। ये सबकुछ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के सामने ही हुआ।
मजेदार बात तो ये कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने मीडिया से कहा कि वो इसको गुटबाजी नहीं मानते। ऐसे में सवाल तो यही उठता है कि तो क्या फिर गुटबाजी के हाथ पैर होते हैं?

 राहुल की ताजपोशी 31 तक : वोरा
कांग्रेस कोषाध्यक्ष ने कहा कि 31 अक्टूबर तक संगठन चुनाव की सभी प्रकियाएं पूर्ण हो चुकी हैं। इसके बाद राहुल गांधी की कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में ताजपोशी होगी। राहुल गांधी फिर अपनी नई टीम भी चुनेंगे। वोरा ने हिमाचल प्रदेश और गुजरात चुनाव को लेकर कहा कि जब हिमाचल प्रदेश में चुनाव तारीख का ऐलान हो चुका तो फिर गुजरात चुनाव की तारीख का क्यों नहीं? वोरा इस मामले में जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव में भाजपा की हार तय है। जीएसटी को लेकर व्यापारियों में जमकर नाराजगी है।

प्रधानमंत्री मोदी, शाह और मुख्यमंत्री रहे निशाने पर:
कोषाध्यक्ष वोरा ने पीएम मोदी, अमित शाह और रमन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज सभी के दामन दागदार हैं। जो लोग कहते थे न कि खाऊंगा न खाने दूंगा, वे आज बिना कमाए खाने की बात कर रहे हैं। आज देशभर में असंतोष का महौल है। दो करोड़ को रोजगार देने की बात कहते थे, लेकिन लाख लोग को भी नहीं दे पाए। जीएसटी आने के बाद किसानों की हालत और भी खराब है, और राज्य सरकार तिहार मना रही है। गुटबाजी के सवाल पर उन्होंने भी रहस्यमयी चुप्पी ओढ़ ली।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *