भूपेश का आह्वान, तुम मुझे टैक्स दो, मैं उससे विज्ञापन दूंगा

छत्तीसगढ़ में बिजली का बिल बना विज्ञापन

कांग्रेस सरकार ने किया खुलेआम आचार संहिता का उल्लंघन

रायपुर : नेशनल हेराल्ड विज्ञापन घोटाले में घिरी छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार अब तक इस विषय पर कोई जवाब नही दे पायी है उसके बाद एक और चौकाने वाला तथ्य सामने आया है मार्च महीने में किए जाने वाले बिजली के बिल में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की फोटो सहित सरकार ने अपनी उपलब्धियां बताई है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि इस विज्ञापन वाली सरकार ने आचार संहिता को ताकपर रखकर अपने प्रचार का एक अनूठा तरीका ईजाद किया है। गौरतलब है कि 10 मार्च 2019 से पूरे देश में आचार संहिता लागू हो चुकी है व मार्च महीने में जारी किए गए बिल की भुगतान की अंतिम तारीख 18 मार्च 2019 है। प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि इस गंभीर विषय की शिकायत भारतीय जनता पार्टी चुनाव आयोग में कर रही है। उन्होंने बताया कि ऐसा लग रहा मानो छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार का नारा है तुम मुझे टैक्स दो मैं उससे विज्ञापन दूंगा।

छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पहली सरकार होगी जो 60 से 70 दिनों के भीतर ही कई प्रकार के विवादों में घिर चुकी है, चाहे वह नेशनल हेराल्ड को विज्ञापन देकर 50 लाख का घोटाला करने की बात हो, चाहे प्रदेश में कानून की स्थिति दयनीय बनाने की बात हो, गरीब सवर्णों का 10 फीसदी आरक्षण रोकने का प्रश्न हो, आयुष्मान भारत योजना रोकने की बात हो या किसानों को सम्मान निधि देने हेतु छत्तीसगढ़ के किसानों की जानकारी केन्द्र को न देने की बात हो। यह सरकार लगातार जनविरोधी फैसले ले रही है परन्तु विवादित विज्ञापन देने का एक इतिहास भी रच रही है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि जनता का मन तीन महीने में ही इस विज्ञापन वाली सरकार से ऊब चुका है व लोकसभा चुनाव में प्रत्येक व्यक्ति इस बदलापुर सरकार को बदलने को बेताब है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि जब कांग्रेस सरकार को उनके किए वायदे याद दिलाये जाते हैं तो वो ये दुहाई देते नही थकते कि उन्हें आए कुछ ही दिन हुए हैं परन्तु जनता से किए वादों कि तरफ ध्यान देने के बजाय यह सरकार केवल और केवल विज्ञापन देकर जनता को दिगभ्रमित करने का प्रयास कर रही है। एक तरफ जहा सरकार ने 60 दिनों में 75 सौ करोड़ रुपए यानि प्रतिदिन 125 करोड़ का कर्ज लिया है। प्रदेश की आर्थिक स्थिति बिगड़ चुकी है। विधवाओं को पेंशन देने के लिए 1000 रुपए, बुजुर्ग किसानों को देने के लिए 1500 रुपए, बेरोजगारों को भत्ता देने के लिए 2500 रुपए व किसी भी प्रकार के कार्य करने के लिए सरकार के पास पैसा नही हैं न वो कोई कार्य कर पा रही है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी को केवल विज्ञापन का ही सहारा है। जनता की गाढ़ी कमाई का दुरुपयोग करने वाली, सभी लोगों से वादाखिलाफी करने वाली व सत्ता का खुलेआम लाभ लेकर कानून व आचार संहिता का मजाक बनाने वाली इस सरकार को जनता बहुत जल्दी सबक सिखाएगी।

Back to top button