महिला दिवस के अवसर पर बोली मेनका, महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित कर सरकार ने गढ़े बेहद ऊंचे मापदंड

नई दिल्ली। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि राजग की वर्तमान सरकार ने अपनी नीतियों के जरिए महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित कर अगली सरकार के लिए बेहद ऊंचे मानदंड गढ़ दिए हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर महिलाओं को बधाई देते हुए गांधी ने कहा कि आज की महिलाएं पहले की अपेक्षा काफी जागरुक हो गई हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नेता ने कहा कि मौजूदा सरकार ने अपनी नीतियों के जरिए महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित कर अगली सरकार के लिए बहुत ऊंचे माणदंड तय कर दिए हैं और इस सरकार ने पिछले पांच साल में जो काम किया है वह पिछले 70 सालों में किसी अन्य सरकार ने नहीं किए।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने से लेकर उनको सशक्त बनाने तक सरकार ने उनके लिए समान अवसरों एवं लैंगिक बराबरी सुनिश्चित की है। उन्होंने कहा कि पहले हफ्ते से भाजपा नीत सरकार ने महिलाओं के खिलाफ अत्याचारों के प्रति कतई बर्दाश्त नहीं करने वाला दृष्टिकोण रखा है। गांधी ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि लैंगिक समानता वाला समय आएगा। हमने महिलाओं के जीवन को आसान बनाने के लिए शौचालय, बिजली एवं गैस सिलेंडर जैसी उनकी मूलभूत जरूरतें सुनिश्चित की हैं।

उन्होंने कहा कि हमने यह भी सुनिश्चित किया कि पत्नियों को छोड़ कर भागने वाले एनआरआई पतियों को सजा मिले। हमने 45 पासपोर्ट रद्द किए हैं और यह संख्या हजारों तक जाएगी। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय एवं कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए जो महिलाओं को कौशल प्रशिक्षण एवं रोजगार देने का प्रावधान करता है। गांधी ने कहा कि यह समझौता महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाएगा। उन्होंने बताया, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय राष्ट्रीय महिला कोष के जरिए उनके कौशल एवं भौगोलिक प्रासंगिकता की पहचान करेगा जिससे स्वरोजगार के जरिए इन महिलाओं के लिए आजीविका के साधन बढ़ाए जा सकें।

Back to top button