छत्तीसगढ़बड़ी खबर

NMDC की बड़ी उपलब्धि,छग सरकार ने दिया 2035 तक लीज का विस्तार

बिलाडिला लौह अयस्क परियोजनाओं के खनन पट्टे NMDC लिमिटेड को बड़ा बढ़ावा मिला क्योंकि छत्तीसगढ़ सरकार ने मार्च 2020 में विस्तार के लिए चार खानों के पट्टे का विस्तार किया।

रायपुर। सार्वजनिक क्षेत्र का खनन प्रमुख, जो छह दशकों से लौह अयस्क के खनन के व्यवसाय में है, देश में तीन लौह-अयस्क परिसरों का संचालन करता है। दो छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में हैं – कंपनी के कुल उत्पादन का एक बड़ा हिस्सा है। वहीं एक कर्नाटक के डोनिमलाई में स्थित है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में स्थित दो परियोजना बचेली और बैलाडिला की उत्पादन क्षमता 33 मिलियन टन प्रति वर्ष (एमटीपीए) है। वर्तमान में बीते वर्ष 2018—19 में उत्पादन में छत्तीसगढ़ के दो परिसरों बचेली और बैलाडीला परियोजनाओं 24 एमटीपीए का उत्पादन योगदान दर्ज है।

एनएमडीसी ने छत्तीसगढ़ राज्य में अग्रिम रूप से बैलाडीला परियोजनाओं के पट्टों के नवीनीकरण की कवायद शुरू की। बैलाडिला सेक्टर की पांच खानों में से, 29 MTPA की स्थापित क्षमता वाली चार खानों की लीज अब बढ़ा दी गई है। 2017 में एक खनन लीज को पहले ही बढ़ाया जा चुका है।

NMDC के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक एन बैजेंद्र कुमार के सीएमडी नियुक्त होने के बाद बीते एक साल से जारी अभ्यास ने आखिरकार वांछित परिणाम प्राप्त किए।

“हम छत्तीसगढ़ सरकार और विशेष रूप से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और शीर्ष अधिकारियों के प्रति आभारी हैं, जिन्होंने एनएमडीसी को उनके समर्थन के लिए (चार खानों के लिए) 20 वर्षों के लिए सहायता प्रदान की है।”

खनिज संसाधन विभाग, छत्तीसगढ़ शासन ने आज दंतेवाड़ा, छत्तीसगढ़ में एनएमडीसी से संबंधित 20 वर्षों की अवधि के लिए चार खनन पट्टों का विस्तार किया है।

इसके तहत बैलाडिला डिपॉजिट नंबर 5, बैलाडिला डिपॉजिट नंबर 10, बैलाडीला डिपॉजिट नंबर -14 और बिलाडिला डिपॉजिट नंबर 14 एनएमजेड के पट्टों को सितंबर 2035 की अवधि के लिए बढ़ा दिया है।

Tags
Back to top button