बिग ब्रेकिंग : पूर्व IPS अधिकारी अमिताभ ठाकुर हाउस अरेस्ट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने खुद को घर में ही कैद करने का पुलिस पर आरोप लगाया है।

लखनऊ :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने खुद को घर में ही कैद करने का पुलिस पर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उन्हें गोरखपुर जाने से रोका गया है। सोशल मीडिया में ट्वीट करके अमिताभ ने इसकी जानकारी दी है। उधर, पुलिस का कहना है कि एक बलात्कार पीड़िता और उसके सहयोगी के आत्मदाह मामले में जांच के सिलसिले में ठाकुर को कहीं जाने से रोका गया है।

दरअसल  मऊ के घोसी से बहुजन समाज पार्टी के सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में रिटायर आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को शुक्रवार को लखनऊ में गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके खिलाफ आपराधिक षडयंत्र व आत्महत्या के लिए उकसाने समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने सेवानिवृत आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को लखनऊ में उनके आवास से गिरफ्तार किया, उनको हजरतगंज कोतवाली में रखा गया है। अमित ठाकुर वहां पर हंगामा कर रहे हैं, उनकी पत्नी नूतन ठाकुर भी इस दौरान हजरतगंज कोतवाली पहुंची हैं।

सर्वोच्च न्यायालय

सर्वोच्च न्यायालय, नई दिल्ली के सामने पीड़िता और उसके सहयोगी व गवाह द्वारा आत्मदाह के प्रयास मामले में गठित संयुक्त जांच समिति ने अपनी अंतरिम जांच आख्या में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने व अन्य आरोपों में सांसद अतुल राय और सेवानिवृत्त आइपीएस अमिताभ ठाकुर को प्रथम दृष्टया दोषी पाया है। जांच समिति ने इनके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर विवेचना करने की संस्तुति की है। इस संस्तुति को शासन ने स्वीकृत करते हुए लखनऊ कमिश्नरेट को आगे की कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया। इसके बाद अतुल राय और अमिताभ ठाकुर के विरुद्ध हजरतगंज कोतवाली लखनऊ में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में अमिताभ ठाकुर को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

पीड़िता ने दिल्ली में आत्मदाह से पहले इस मामले में इंटरनेट मीडिया पर जारी बयान में पूर्व आईपीएस को माफिया मुख्तार अंसारी के इशारे पर बचाने का आरोप लगाते हुए मानसिक शोषण के साथ न्याय से वंचित करने का आरोप लगाया था। बसपा सांसद अतुल राय पर आरोप लगाने वाली पीड़िता के मामले में हुई एसआईटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर पूर्व आईपीएस की गिरफ्तारी हुई है।

पीड़िता ने मुख्तार अंसारी की शह पर दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय को बचाने के लिए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के ऊपर आपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोप था। जांच में यह सही पाए जाने पर हजरतगंज पुलिस ने शुक्रवार को पूर्व आईपीएस को उनके आवास से गिरफ्तार किया है।

आत्मदाह मामले की जांच करने वाली एसआइटी ने अमिताभ ठाकुर के खिलाफ केस दर्ज किया 

घोसी से बसपा सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगानी वाली लड़की और दुष्कर्म के मामले में गवाह के नई दिल्ली में आग लगाकर आत्मदाह करने के बाद से जबरिया रिटायर आइपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर की मुश्किल बढ़ गई थी। आत्मदाह मामले की जांच करने वाली एसआइटी ने अमिताभ ठाकुर के खिलाफ केस दर्ज किया था।

इसके बाद से उनके घर के बाहर लगातार पुलिस तैनात थी। एफआईआर दर्ज होने के बाद आज अमिताभ ठाकुर को गोमतीनगर में उनके घर के बाहर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उनको दुष्कर्म पीड़िता को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। अमिताभ ठाकुर के खिलाफ आज एसआईटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई हुई है। इनके खिलाफ मुख्तार अंसारी की शह पर दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय को बचाने के लिए पीड़िता ने आपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया था। पीड़िता ने बीते दिनों नई दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह कर लिया था।

 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button