मध्यप्रदेश

बिग ब्रेकिंग-ITMS द्वारा होगी शहर में यातायात व्यवस्था की हाईटेक निगरानी

स्टाप लाइन का उल्लंघन, गलत दिशा में ड्राइविंग की तो भी पकड़े जाएंगे।

सागर : सागर स्मार्ट सिटी कार्यालय के इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से संचालित इंटेलीजेंट ट्रैफिक मेनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) से जोड़ कर शहर के मुख्य चौराहों पर यातायात नियंत्रण संबंधी तकनीकों के अवलोकन हेतु स्मार्ट सिटी सीईओ राहुल सिंह राजपूत के मार्गदर्शन में सागर आरटीओ प्रदीप कुमार शर्मा, एवं ट्रैफिक डीएसपी संजय खरे ने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में विजिट की।

सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा आईटीएमएस में जोड़े जा रहे चौराहों में सिविल लाइन चौराहा, बाणिज्य कर चौराहा, पीली कोठी चौराहा, डिग्री कॉलेज चौराहा, संजय ड्राइव चौराहा, वंदना तिराहा पर लगे कैमरे और ट्रैफिक सिग्नलों को इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के आईटीएमएस से जोड़ कर चालू किया जा चुका है। अन्य चौराहों के साथ सागर के एंट्री एग्जिट प्वाइंट और स्पीड लोकेशन का प्रगति कार्य अतिशीघ्र पूर्ण कर चालू किया जायेगा।

सिविल लाइन चौराहे पर ट्रैफिक रूल्स का उल्लंघन करने पर की गई वाहनों की ई-चालान प्रक्रिया के सफल प्रयोग के बाद अब यह प्रक्रिया शहर के अन्य चौराहों पर भी लागू की जायेगी। जिसके अंतर्गत तेज गति से वाहन चलाने, दो पहिया पर तीन सवारी बैठाने या हेलमेट नहीं लगाने वाले बच नहीं पाएंगे। स्टाप लाइन का उल्लंघन, गलत दिशा में ड्राइविंग की तो भी पकड़े जाएंगे। इसके लिए हर चौराहे पर यातायात सिपाहियों को तैनात करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

चौराहों पर लगे रेड लाइट वायलेशन डिटेक्शन

चौराहों पर लगे रेड लाइट वायलेशन डिटेक्शन (आरएलव्हीडी) व एएनपीआर कैमरों जैसे हाईटेक सीसीटीवी कैमरे, और सेंसर यह सब काम करेंगे। इनकी मदद से ट्रैफिक रूल्स का उल्लंघन करने बाले वाहन चालक की नंबर प्लेट ऑटोमेटिक डिटेक्ट होगी और पहले से कंप्यूटर में संगृहीत जानकारी अनुसार उक्त वाहन चालक पर ई-चालान की कार्यवाही होगी। विचारणीय है कि सागर शहर के ट्रैफिक सिस्टम को हाईटेक करने का काम स्मार्ट सिटी योजना में किया जा रहा है। इसमें ट्रैफिक सर्विलांस, ट्रैफिक सिक्योरिटी, ई चालान, ट्रैफिक कमांड सेंटर पर प्रमुखता से काम किया जा रहा है।

Tags
Back to top button