Telegram में मिली बड़ी ‘खामी’, हैकर्स जान सकते हैं आपकी लोकेशन

इंडिपेंडेंट रिसर्चर अहमद हसन का दावा है कि टेलीग्राम में एक ऐसा फीचर है

इंस्टेंट मैसेजिंग एप्प व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी (Whatsapp Privacy Policy) में बदलाव किया है। ऐसे में कई यूजर्स ने व्हाट्सएप को छोड़कर दूसरे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। इसी बीच पॉप्युलर मैसेजिंग प्लेटफॉर्म Telegram से जुड़ी एक ताजा रिपोर्ट सामने आई है। इंडिपेंडेंट रिसर्चर अहमद हसन का दावा है कि टेलीग्राम में एक ऐसा फीचर है, जिसका गलत इस्तेमाल करके किसी यूजर्स की वास्तविक लोकेशन का पता लगाया जा सकता है।

क्या है टेलीग्राम का यह फीचर

बता दें कि टेलीग्राम एप में People Nearby नाम का एक फीचर आता है। इस फीचर के जरिए एक यूजर अपनी आसपास मौजूद अनजान टेलीग्राम यूजर्स को भी मैसेज भेज सकता है। अगर आप Make Myself Visible सेटिंग्स को इनेबल करते हैं तो आपकी प्रोफाइल आसपास मौजूद यूजर्स को दिखाई देगी। पीपल नियरबाय फीचर से यह भी पता चल जाता है कि दूसरा यूजर आपसे कितनी दूरी पर है।

हैकर्स इस तरह बना सकते हैं शिकार

टेलीग्राम इस फीचर के जरिए एक एरिया में मौजूद यूजर्स को लोकल ग्रुप बनाने की सुविधा देता है। अहमद हसन के मुताबिक, हैकर्स आमतौर पर फर्जी लोकेशन का इस्तेमाल करके इस तरह के ग्रुप्स में घुस जाते हैं और फेक बिटकॉइन इनवेस्टमेंट, हैंकिंग टूल्स और सोशल सिक्योरिटी नंबर्स बेचने की कोशिश करते हैं। हसन ने दावा किया कि हैकर्स एक साथ दो अकाउंट्स में फेक एड्रेस का इस्तेमाल करके किसी दूसरे यूजर की सही लोकेशन का पता लगा सकते हैं।

बचने के लिए क्या करें यूजर्स?

हालांकि अगर आप भी टेलीग्राम इस्तेमाल करते हैं और चाहते हैं कि आपकी लोकेशन के बारे में किसी अनजान यूजर को आपकी लोकेशन न दिखे तो बेहतर होगा कि आप Make Myself Visible ऑप्शन को बंद ही रखें। इसके अलावा, आप टेलीग्राम के पीपल नियरबाय फीचर का भी इस्तेमाल न करें। इस फीचर को कंपनी ने जून 2019 में शुरू किया था और पिछले साल फरवरी में अपडेट किया था। बता दें कि टेलीग्राम के दुनियाभर में करीब 50 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button