बड़ी खबर…15 अगस्त को बिलासपुर और अंबिकापुर जुड़ जाएगा हवाई मार्ग

-लायसेंस की प्रक्रिया अंतिम चरण में

अंबिकापुर/बिलासपुर।

जगदलपुर के बाद अब बिलासपुर और अंबिकापुर भी हवाई नक्शे में शामिल हो जाएगा। इन दोनों जगहों से 15 अगस्त से एयर ओडिशा का प्लेन उड़ान भरना चालू कर देगा। दिल्ली से आई सिविल एवियेशन अथॉरिटी की टीम शनिवार को बिलासपुर के चकरभाटा एयरस्ट्रीप का मुआयना कर रही है।

राज्य का विमानन विभाग ने भी इसके लिए पूरी ताकत झोंक दी है। अगर दोनों जगहों से विमान सेवा चालू हो गया तो छत्तीसगढ़ के लिए ये एक बड़ी उपलब्धि होगी। इतने छोटे राज्य के तीन-तीन शहरों में विमान सेवा की सुविधा होगी।

– 14 मई को पीएम मोदी ने किया था ऐलान

जगदलपुर से विमान सेवा की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 मई को विकास यात्रा के समापन में की थी। बिलासपुर और अंबिकापुर के लिए सरकार 15 अगस्त तक का टारगेट रखकर चल रही है। इसके लिए युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू हो गई है। हालांकि, छत्तीसगढ़ के डायरेक्टर एवियेशन रजत कुमार ने दोनों जगहों से विमान परिचालन शुरू होने का डेट बताने से इंकार किया.

उन्होंने बताया कि एयरपोर्ट के लायसेंस की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जल्द ही दोनों एयरपोर्ट को घरेलू विमान सेवा के लिए लायसेंस मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि अंबिकापुर एयरपोर्ट का काम तो पहले ही पूरा हो चुका है। वहां के लिए सिक्यूरिटी चेकिंग स्टाफ की ट्रेनिंग भी पूरी हो चुकी है। सिर्फ लायसेंस मिलने की औपचारिका बची है।

बिलासपुर के चकरभाटा एयरस्ट्रीप भारतीय सेना के अधिपत्य में था, इसलिए इसकी प्रक्रिया में थोड़ा वक्त लगा। मगर अब सारी कार्रवाई पूरी हो चुकी है। डीजीसीए के टीम आज बिलासपुर में है। बिलासपुर एयरपोर्ट पर थोड़ा बहुत काम बचा होगा, उसके लिए जिला प्रशासन को कहा गया है, वे जल्द उसे पूरा कराएं।

विमानन एजेंसियों के सर्वे में यह बात सामने आई है कि बिलासपुर से दिन में कम-से-कम एक फ्लाइट दिल्ली, मुंबई के लिए नागपुर या विशाखापटनम होकर चलाएं तो पर्याप्त यात्री मिल सकते हैं। इससे बिलासपुर, कोरबा, जांजगीर, रायगढ़ के लोगों को रायपुर नहीं आना पड़ेगा।

Back to top button