अंतर्राष्ट्रीयबड़ी खबरराष्ट्रीय

बड़ी खबर – LAC पर भारतीय सेना के लिए बढ़ी चुनौती

चीनी सेना ने विवादित इलाके पैंगोंग त्सो में बनाया हैलीपेड !

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत

भारत और चीन के बीच एलएसी पर तनाव घटने के बजाए बढ़ता ही जा रहा है। चीनी सेना एलएसी से पीछे हटाने को राजी नहीं है। कई राउंड की बातचीत के बाद भी हालात बिगड़े ही हैं। अब कोई बातचीत भी नहीं हो रही है।

ऐसे में आगे तनाव और भी बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। जनसत्ता की खबर के मुताबिक चीन ने लद्दाख के पैंगोंग त्सो इलाके में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। चीन ने विवादित इलाके फिंगर 4 पर एक हैलीपेड का निर्माण कर लिया है और साथ ही यहां अपने सैनिकों की तैनाती भी बढ़ा दी है।

एलएससी पर चीन की हरकतों से लगता नहीं है कि वो फिलहाल हालात बेहतर करना चाहता है। चीन द्वारा फिंगर 4 पर हैलीपेड के निर्माण से यह साफ हो गया है कि वो वह फिलहाल तो पीछे नहीं हटने जा रहा है। एक अधिकारी ने अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में बताया कि “यह सही है कि चीन ने पैंगोंग त्सो झील के उत्तरी तट पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। अब उसने वहां एक हैलीपेड भी बना लिया है, जो कि इस इलाके में बीते 8 हफ्तों में किए गए कंस्ट्रक्शन में नया इजाफा है।”

चीनी सेना अब फिंगर 3 की चोटी तक पेट्रोलिंग कर रही है

अधिकारियों ने ये भी बताया कि “चीनी सेना अब फिंगर 3 की चोटी तक पेट्रोलिंग कर रही है। इस तरह से वह हमें फिंगर 2 तक सीमित रखना चाहते हैं।” एक अन्य अधिकारी के अनुसार, “चाइनीज हमें बता रहे हैं कि उनकी वापस जाने या अप्रैल से पहले वाली यथास्थिति बहाल करने की कोई इच्छा नहीं है। यही वजह है कि वह पैंगोंग त्सो में पीछे हटने की किसी भी बातचीत में रुचि नहीं दिखा रहे हैं।”

“हमने पर्याप्त संख्या में यहां सैनिकों की तैनाती की है लेकिन यहां कि भौगोलिक स्थिति के कारण हम पर यहां सामरिक रूप से कुछ प्रतिबंध हैं। कह सकते हैं कि इस इलाके में हमारे सामने काफी गंभीर चुनौती है।” एक अधिकारी ने द इंडियन एक्सप्रेस को यह जानकारी दी है।

भारत का मेन बेस फिंगर 3 पर स्थित है

खबर के मुताबिक चीनी सेना ने फिंगर 8 पर अपना परमानेंट बेस बना लिया है और अब वह वहां से आठ किलोमीटर पश्चिम में फिंगर 4 इलाके में अपने सैनिकों की तैनाती कर रहे हैं। यहां भी उन्होंने शेल्टर, बंकर आदि बना लिए हैं। वहीं भारत का कहना है कि एलएसी फिंगर 8 से होकर गुजरती है लेकिन चीनी सेना का कहना है कि यह पश्चिम में काफी आगे है।

अप्रैल से पहले तक भारतीय सेना की पेट्रोलिंग फिंगर 8 तक होती थी, वहीं चीनी सेना फिंगर 4 तक पेट्रोलिंग करती थी। भारत का मेन बेस फिंगर 3 पर स्थित है, जो कि चीन के मौजूदा बेस से दो किलोमीटर दूर है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button