बड़ी खबर-पत्थलगड़ी के विरोध का बदला लेने हुआ खूंटी गैंगरेप

-तिडू है मास्टरमाइंड, आरसी मिशन स्कूल के फादर अलफोंस आईंद भी गिरफ्तार

रांची।

खूंटी गैंगरेप की घटना को पत्थलगड़ी समर्थकों के दूसरे बड़े नेता जॉन जुनास तिडू के कहने पर अंजाम दिया गया। यह दावा है एडीजी आॅपरेशन आरके मल्लिक का। मल्लिक ने बताया कि मामले में अजूब सांडी पूर्ति व आशीष लोंगो को गिरफ्तार किया गया है। दोनों को जेल भेज दिया गया है। इतना ही नहीं साक्ष्य छिपाने व पुलिस को गुमराह करने को लेकर आरसी मिशन स्कूल के फादर अलफोंस आईंद को भी जेल भेज दिया गया है।

मल्लिक ने बताया कि वारदात को बदले की भावना से पत्थलगड़ी समर्थकों व पीएलएफआई उग्रवादियों ने अंजाम दिया। गिरफ्तार अजूब सांडी पश्चिमी सिंहभूम के लड़ाउली बंदगांव और आशीष सोनुआ के बुडमकेल का है।

-पत्थलगड़ी कराने वाले नेता के कहने पर हुआ रेप

मल्लिक ने बताया कि 19 जून को आशा किरण संस्था टीम को कोचांग ले गई थी। नाटक के दौरान तिडू मौजूद था। तिडू ने ही पीएलएफआई व पत्थलगड़ी समर्थकों को बताया कि टीम पत्थलगड़ी का विरोध करती है। आशीष लोंगो और अजूब सांडी ने 164 के तहत दर्ज बयान में बताया है कि तिडू के कहने पर ही छह युवक स्कूल आए। इसके बाद टीम को छोटाउली जंगल ले गए। जंगल में तीन युवकों ने पांचों युवतियों से गैंगरेप किया।

-आरोपी की हुई पहचान

गैंगरेप मामले में छपी तस्वीर की पहचान पीएलएफआई के एरिया कमांडर टकाला के रूप में हुई है। टकला उर्फ बाजी समद सरायकेला के लुदूबेड़ा गांव का रहने वाला है। पिछले दो दिनों से कोचांग और आसपास के ग्रामीण आरोपियों की तलाश कर रहे हैं।

Back to top button