राष्ट्रीय

आरक्षण को लेकर BJP मंत्री गोपाल भार्गव का बड़ा बयान

भोपाल: नरसिंहपुर में विप्र समागम कार्यक्रम के दौरान मंत्री गोपाल भार्गव ने आरक्षण को अनीति भरा बताया. उन्होंने मंच से कहा कि आज़ादी के समय हमारी समाज के एक चौथाई सांसद, विधायक और अधिकारी-कर्मचारी हुआ करते थे, लेकिन अब 10 फीसदी भी नहीं बचे.

उन्होंने इस दौरान कहा कि आजादी के समय देश में अनीति का नहीं नीति का काम था. आरक्षण के नाम पर ब्राह्मण या किसी और समाज के साथ नहीं, बल्कि प्रतिभाओं के साथ मजाक हो रहा है.

टिप्पणियां गोपाल भार्गव ने कहा कि 90 फीसदी वालों को घर बैठाकर 40 फीसदी वालों को आगे बढ़ाया जाएगा, तो देश पिछड़ जाएगा.

वर्तमान में देश का यह हाल है कि हर पार्टी ब्राह्मण का समर्थन चाहती, पर ब्राह्मण को देना कुछ नहीं चाहती. इस कार्यक्रम में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती, कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी, पदम श्री विजयदत्त श्रीधर सहित कई विधायक, जनप्रतिनिधि और ब्राह्मण सन्त मौजूद रहे.

हालांकि, मामले को बढ़ता देख मंत्री गोपाल भार्गव ने इस संबंध में सफाई भी दी है. उन्होंने कहा, “परशुराम जयंती के मौके पर एक कार्यक्रम में दिए गए मेरे वक्तव्य को राजनीतिक कारणों से तोड़-मरोड़ कर कुछ नेताओं और समाचार माध्यमों द्वारा प्रस्तुत किया जा रहै है.

मैं इस भ्रांति को दूर करते हुए यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं संविधान परस्त आरक्षण व्यवस्था का घोर समर्थक हूं. मैंने अपने वक्तव्य में कहीं भी आरक्षण शब्द का उपयोग नहीं किया है.”

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.