बिहार में थम गया चुनाव प्रचार, अब 19 मई का इंतजार

पटना : बिहार में 17वीं लोकसभा के चुनाव प्रचार का शोर शुक्रवार की शाम थम गया। अब शनिवार को प्रत्याशी घर जाकर समर्थन की अपील करेंगे। सातवें चरण में आठ सीटों पर रविवार को मतदान होना है। नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकाट और जहानाबाद संसदीय सीट पर वोट पड़ेंगे। आखिरी चरण में राजद सुप्रीमो लालू यादव की बेटी मीसा भारती के अलावा शत्रुघ्‍न सिन्‍हा, रविशंकर प्रसाद, मीरा कुमार, उपेंद्र कुशवाहा आदि किस्‍मत आजमा रहे हैं।

बिहार में लोकसभा चुनाव के अंतिम दौर में 19 मई के मतदान की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। 1.52 करोड़ मतदाता आखिरी चरण में 157 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। 20 महिलाएं भी किस्मत आजमा रहीं हैं। इसमें दो महिला उम्मीदवार को राष्ट्रीय पार्टी ने मैदान में उतारा है तो 13 पर क्षेत्रीय पार्टी ने दांव लगाया है। इसी तरह, पांच निर्दलीय मैदान जीतने में जुटी हैं।

1.52 करोड़ मतदाता में 80.38 लाख पुरुष और 71.53 लाख महिला एवं 501 थर्ड जेंडर मतदाता हैं। मतदाताओं की सुविधा के लिए चुनाव आयोग ने 15811 मतदान केंद्र बनाए हैं। इसमें 26233 बैलेट यूनिट और 15811 वीवीपैट व ईवीएम लगाए जाएंगे। सर्वाधिक 35 उम्मीदवार नालंदा लोकसभा क्षेत्र में किस्मत आजमा रहे हैं।

वहीं, सबसे कम 11 प्रत्याशी आरा संसदीय सीट पर हैं। महत्वपूर्ण यह है कि सर्वाधिक बड़ा संसदीय क्षेत्र नालंदा है। सबसे अधिक मतदाता पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र में हैं। सबसे कम मतदाता वाला लोकसभा क्षेत्र जहानाबाद है। आखिरी दौर में डिहरी विधानसभा का उपचुनाव भी 19 मई को संपन्न होगा।

Back to top button