बिहार: लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने फुलवारीशरीफ थाने का किया घेराव

पटना।

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और राज्य के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को फुलवारीशरीफ थाने का अपने समर्थकों के साथ घेराव किया। उनका आरोप है कि एक महिला फरियादी की शिकायत के बारे में बात करने पर थानेदार ने उनके साथ फोन पर बदतमीजी की। वहीं, फुलवारीशरीफ थाना प्रभारी ने आरजेडी नेता के आरोपों का खंडन किया है। तेज प्रताप का साथ देने उनके मामा साधु यादव भी थाने पहुंच गए थे।

तेज प्रताप ने पत्रकारों को बताया कि गुरुवार को उनके जनता दरबार में एक महिला फरियादी ने फुलवारीशरीफ थाने में प्राथमिकी दर्ज नहीं किए जाने की शिकायत की। उसकी शिकायत के बारे में जब उन्होंने थाना प्रभारी से फोन पर जानकारी लेनी चाही और मामला दर्ज न किए जाने का कारण जानना चाहा, तब थाना प्रभारी ने उनसे बदतमीजी से बात की।

थानेदार की बदतमीजी पर भड़के तेज प्रताप अपने समर्थकों के साथ फुलवारीशरीफ थाना पहुंचे। उन्होंने थाने का घेराव किया और वहीं धरना पर बैठ गए।

तेज प्रताप ने अपने अंदाज में कहा, अब थानेदार भी रंगदारी बतियाने लगे हैं। ऐसे थानेदार को हटवाना होगा। पुलिस का काम जनता की सेवा करना है। उन्होंने कहा कि जब थाने में ऐसी हालत है तो राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति समझी जा सकती है।

उधर, फुलवारीशरीफ थाना प्रभारी मोहम्मद कैसर ने आरोप का खंडन करते हुए कहा कि उन्होंने फोन पर बदतमीजी नहीं की। उन्होंने कहा कि पीड़ित महिला प्राथमिकी दर्ज कराने कभी भी थाने में नहीं आई। बहरहाल, फुलवारीशरीफ थाने में काफी देर तक हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा। इस बीच तेज प्रताप का साथ देने उनके मामा साधु यादव भी थाने पहुंच गए थे।

advt
Back to top button