बिलासपुर: शहंशाहे छत्तीसगढ़ हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के 5 दिवसीय उर्स का आगाज

सीपत. शहंशाहे छत्तीसगढ़ हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के 5 दिवसीय 63 वां सालाना उर्स के पहले ही दिन दूर दराज से बड़ी संख्या में जायरीन लुतरा शरीफ पहुंचे और दरगाह में अक़ीदत के साथ चादर चढ़ाई और अमन,खुशहाली व सलामती की दुआ मांगी।

लुतरा शरीफ के हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह की दरगाह प्रदेश की सबसे बड़ी दरगाह है। जहां इस वर्ष बाबा इंसान अली शाह का 63 वां सालाना उर्स मनाया जा रहा है। पांच दिनों तक चलने वाले उर्स में तक़रीर,मुशायरा और कव्वाली का आयोजन किया जाना है। दरगाह इंतेजामिया कमेटी की ओर से जायरीनों के लिए निःशुल्क नाश्ता,चाय के अलावा दिनभर शुद्ध शाकाहारी शाही लंगर चल रहा है। उर्स में हर किस्म की दुकाने लगी है उर्स में आकर्षक झूले उर्स की रौनक बढ़ा रहे है।

आतिशबाजी के साथ हुआ परचम कुशाई, मलंगों ने दिखाया हैरतअंगेज करतब

हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के पांच दिवसीय 63 वां सालाना उर्स का आगाज सोमवार को निशान-ए-झंडा में परचम कुशाई के रश्म अदा करने के बाद हो गया । बाबा सरकार के मुख्य दरगाह से परचम निकाला गया जिसमें दरगाह के खादिमों के अलावा बड़ी संख्या में दर्शनार्थी शामिल हुए इस दौरान मलंगों ने हैरतअंगेज कारनामे दिखाकर लोगो को आश्चर्यचकित कर दिया।

आज है बाबा की 17 वी दोपहर को जुटेंगे दर्शनार्थी

आज उर्स के दूसरे दिन बाबा इंसान अली के पुण्यतिथि का दिन है इसी दिन वे इस दुनिया से हमारी जाहिरी आंखों से ओझल हुए थे इसलिए इस दिन को खास माना जाता है। 12:40 बजे मज़ारे पाक को ग़ुस्ल देकर खादिम चादर पोशी करेंगे। रात 9:00 बजे अल्लामा हशन कमाल अशरफ किछौछा शरीफ की तकरीर होगी ।

खादिम,ग्राम पंचायत और मुस्लिम जमात का किया गया सम्मान

लुतरा शरीफ में शुरू से पंरपरा रही है कि दरगाह के इंतेजामिया कमेटी स्थानीय ग्राम पंचायत,मुस्लिम जमात और खादिमो का उर्स के पहले दिन सम्मान करती है इस वर्ष दरगाह और उर्स का संचालन मस्तूरी एसडीएम कर रहे है प्रशासन की ओर से मंच के माध्यम से दरगाह के सभी छह खादिम, जनपद पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत के सरपंच, उपसरपंच, पंच व सचिव सहित मुस्लिम जमात के पदाधिकारियों का फूल माला और बेच के साथ आई कार्ड से राजस्व निरीक्षक सीपत प्रदीप शुक्ला एवं लूथरा पटवारी ने सम्मान किया

रेल्वे स्टेशन से बस नही चलने से दर्शनार्थियों को हो रही है भारी परेशानी

पूर्व में हर वर्ष उर्स के दौरान बिलासपुर रेल्वे स्टेशन से एक सप्ताह के लिए लुतरा शरीफ तक चलाया जाता था लेकिन कोरोना काल के दौरान जब सीटी बस को प्रशासन ने बंद कराया दिया था इसके बाद से उर्स में भी सिटी बस बंद के संचालन को बंद करा दी गई थी सीटी बस के नही चलने से रेल मार्ग से आने वाले जायरीनों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
बता दे कि उर्स के दौरान हजारों की संख्या संख्या में छत्तीसगढ़ के अलावा,झारखंड,उ.प्र.,बिहार,उड़ीसा, बंगाल व अन्य राज्यो के लोग ट्रेन के माध्यम से बिलासपुर आते है वहा से सीटी बस के माध्यम से लुतरा शरीफ पंहुचते थे लेकिन पिछले दो वर्ष से ऐसी सुविधा नही मिल पा रही है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button