बिलासपुर : 2 अगस्त से दसवीं एवं बारहवीं की कक्षाएं होगी प्रारंभ, शालाओं में आवश्यक तैयारी करने के निर्देश

कोविड-19 महामारी के कारण सुरक्षा कारणों से बंद विद्यालयों में राज्य शासन के निर्देशानुसार कक्षा दसवीं एवं बारहवीं की कक्षाएं 2 अगस्त 2021 से प्रारंभ की जाएगी।

बिलासपुर 28 जुलाई 2021 : कोविड-19 महामारी के कारण सुरक्षा कारणों से बंद विद्यालयों में राज्य शासन के निर्देशानुसार कक्षा दसवीं एवं बारहवीं की कक्षाएं 2 अगस्त 2021 से प्रारंभ की जाएगी। जिला शिक्षा अधिकारी बिलासपुर द्वारा स्कूल प्रारंभ होने के पूर्व सभी आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिए गए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा सभी विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों, प्राचार्य, संस्था प्रमुख को जारी निर्देशानुसार कोरोना पाॅजिटिवी की दर सात दिनों तक 1 प्रतिशत से कम रहने पर ही सभी निजी एवं शासकीय विद्यालयों में प्रथम चरण में केवल कक्षा 10वीं व 12वीं की कक्षाएॅ प्रारम्भ होगी।

कक्षा 1ली से 5वीं तक विद्यालय को तभी प्रारम्भ किया जाए, जब ग्रामीण क्षेत्रों मे पंचायत समिति तथा शहरी क्षेत्रों में वार्ड पार्षद के द्वारा विद्यालय प्रारम्भ करने की लिखित अनुमति 02 अगस्त के पूर्व प्राप्त कर लें। विद्यालय प्रारम्भ होने के पूर्व भवन एवं शाला परिसर की समुचित साफ-सफाई पूर्ण की जाए। संस्था में उपलब्ध स्थान एवं कोविड सुरक्षा को ध्यान में रखकर सामाजिक दूरी के आधार पर विद्याथिर्यो को आवश्यकता अनुसार 50ः विद्यार्थियो को शाला अध्यापन हेतु बुलाया जाए।

केन्द्र शासन एवं राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी कोविड मार्गदर्शक निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया

वर्तमान में वर्षा ऋतु को दृष्टिगत रखकर मौसमी बुखार, खांसी जुकाम, इत्यादि लक्षणों के दिखने पर प्रभावित विद्यार्थियों को कक्षाओं में उपस्थित होने की अनुमति प्रदान न की जाए एवं उन्हें समुचित चिकित्सा हेतु मार्गदर्शन प्रदान करें। केन्द्र शासन एवं राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी कोविड मार्गदर्शक निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। उन्हीं विद्यार्थियों को शाला में प्रवेश दिया जाए जो उक्त मापदण्डों का पालन करते है एवं संस्था में उनकी जांच कर प्रवेश की अनुमति प्रदान की जाए।

संस्था मे कोविड से सुरक्षा हेतु सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क अनिवार्य रूप से धारण करते हुए निर्धारित अंतराल में साबुन से हाथ धोना एवं सेनेटाईजर का प्रयोग करने की सुविधा अनिवार्य रूप रखी जाए। विद्यार्थियों की एक लम्बे अंतराल के उपरांत संस्था में उपस्थित होगी। उनमें भी विद्यालय के आगमन एवं प्रारम्भ होने का उत्साह होगा।

अतः उनके प्रवेश के दिवस को एक उत्सव के रूप में मनाया जाए। शासन की लाभकारी योजनाओं जैसे-निःशुल्क गणवेश वितरण एवं पुस्तक वितरण का लाभ जिन बच्चों को नहीं मिला है, शाला प्रवेश के दिन स्थानीय जन प्रतिनिधियों एवं अभिभावकों तथा गणमान्य नागरिकों को आमंत्रित कर उनके माध्यम से बच्चों को यह सामग्री वितरित की जाए।

कक्षा 9वीं एवं 11वीं तथा प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं की कक्षाएं मोहल्ला क्लास के माध्यम से संचालित होगी। आॅनलाईन कक्षाएं यथावत संचालित की जाएगी तथा विद्यालय में किसी भी विद्यार्थी के लिए उपस्थिति अनिवार्य नहीं होंगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button