छत्तीसगढ़

बिलासपुर मेरा घर, पत्रकार मेरा परिवार, निगम कमिश्नर ने कहा-शहर विकास में सभी का मिला सहयोग

अंकित मिंज

बिलासपुर।

शहर का तेजी से विकास हो रहा है। बिलासपुर स्मार्ट सिटि प्रोजेक्ट में किसी प्रकार की बाधा नहीं आएगी। पिछले तीन सालों से चुनौतियां मिली..सामना भी किया। जनसहयोग से बिलासपुर को स्वच्छता अभियान में सम्मान मिला। चौबे ने बताया कि बिलासपुर पहुंचकर गौरव महसूस करता हूं। खुद प्रेस परिवार से हूं। आज पत्रकारों से मिलकर बहुत अच्छा लग रहा है। सौंमिल रंंजन चौबे ने बताया कि सिवरेज का काम अंतिम समय में पहुच गया है। शासन के निर्देश के अनुसार काम को जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

सोमवार को निगम आयुक्त सौंमिल रंजन चौबे पहुना बनकर पहुंचे। इस दौरान उन्हें बिलासपुर और प्रेस परिवार के साथ जुड़ाव भावनात्मक संबधों को साझा किया। उन्होने बताया कि पत्रकारों से उनका संबध पारिवारिक रहा है। दादा डीपी चौबे के परिवार से होने के कारण पत्रकारों से हमेशा आत्मीय संबध रहा है। जिसकी बुनियाद दादाजी ने रखा। गर्व इस बात का भी है इस सजाने सवांरने का उत्तरदायित्व मुझे मिला।

बातचीत के दौरान सौमिल रंंजन ने बताया कि बिलासपुर में मुझे साल 2016 में निगम की जिम्मेदारी दी गयी। इस दौरान सिवरेज का काम काफी कुछ अधूरा था। लोगों का सहयोग मिला। शासन की मदद से डोर टू डोर कचरा कलेक्शन का काम शुरू हुआ। विवादास्पद सफाई ठेका बन्द किया गया। शहर को सेक्टर में बांटकर सफाई अभियान चलाया गया। काफी सफलता भी मिली। 36 करोड़ की लागत से कछार में 36 करोड़ की लागत से वेस्ट मैनेजमेन्ट प्लान्ट शुरू हुआ।

सौमिल रंजन ने बताया कि सुडा में पदस्थ रहने के दौरान स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट तैयार करते समय योजना की व्यापक जानकारी मिली। इस दौारन प्लान बनाने का मौका मिला। भारत सरकार ने योजना की ताऱीफ भी की। चौबे ने कहा कि सरकार बदलने से स्मार्ट सिटी योजना पर कोई फर्क नहीं आने वाले है। बिलासपुर सबसे सुन्दर स्मार्ट सिटी बनेगा।

चौबे ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि जब निगम की जिम्मेदारी मिली..उस समय सड़क को लेकर जनमानस में भयंकर आक्रोश था। निगम को हाईकोर्ट से लगातार फटकार मिल रही थी। इसी दौरान 24 करोड़ का टेन्डर निकाला गया। तमाम आशंकाओं के बीच काम भी शुरू हुआ। निगम ने छोटी बड़ी 650 से अधिक सड़कों का निर्माण किया।

निगम कमिश्नर ने बताया कि इन तीन सालों में स्लम बस्तियों के 12 सौ से अधिक परिवार को शासकीय आवास में शिफ्ट किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सरकन्डा क्षेत्र में 2000 मकान बनाए जा चुके हैं। आने वाले समय में जल्द से जल्द 2 हजार पक्के मकान बना लिए जाएंगे। इनमें गरीबों को बसाया जाएगा। बने हुए मकान में शिफ्टिंग की कार्रवाई भी हो चुकी है।

इस दौरान सौमिल रंंजन चौबे ने चौपाटी और रिवर व्यू निर्माण का भी जिक्र किया। उन्होने बताया कि अरपा में दो एनिकट बनाए जाने की योजना है।

इसके बाद अरपा कभी सूखी नहीं होगी। रिवर व्यू का आनन्द भी अनोखा होगा। बिलासपुर का जल स्तर भी बढ़ेगा। चौबे ने बताया कि अमृत योजना सरकार की महात्वाकांक्षी योजना है। योजना के क्रियान्यवयन के बाद बिलासपुर को कभी भी पेयजल के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
बिलासपुर मेरा घर, पत्रकार मेरा परिवार, निगम कमिश्नर ने कहा-शहर विकास में सभी का मिला सहयोग
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags