Bilaspur News: रेफर केस से परेशान सिम्स, सीएमएचओ को लिखा पत्र

सामान्य मामलों को भी लगातार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से सिम्स रेफर कर किया जा रहा है। ऐसे में सिम्स में बेवजह मरीजों को दबाव बढ़ रहा है।

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

संवाददाता : राधिका पाखी

बिलासपुर। सामान्य मामलों को भी लगातार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से सिम्स रेफर कर किया जा रहा है। ऐसे में सिम्स में बेवजह मरीजों को दबाव बढ़ रहा है। इस समस्या को देखते हुए प्रबंधन ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर सिर्फ गंभीर मामले ही सिम्स भेजने के लिए कहा है। साथ ही सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को इसके लिए आदेशित करने को कहा है। ताकि सिम्स में मरीजों को दबाव कम हो सके।

ग्रामीण क्षेत्र अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा स्थापित करने के बाद भी पहुंचने वाले सामान्य मरीजों को भी सिम्स रेफर कर दिया जा रहा है। जबकि उस मरीज का उपचार वहीं आसानी से हो सकता है। लगातार मरीज भेजने से सिम्स में मरीजों का दबाव बढ़ता जा रहा है। इसकी वजह से कई बार गंभीर मरीजों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता है। सिम्स प्रबंधन ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर कहा है कि सिम्स रेफर सेंटर नहीं है।

जबकि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पर्याप्त डॉक्टर हैं। इसके बाद भी मरीजों का उपचार करने में स्र्चि नहीं लेते हंै और मरीजों को सिम्स भेजकर अपनी जवाबदारी से बचने का प्रयास करते हैं। यह व्यवस्था बदली जाए और सभी ब्लाक बीएमओ व केंद्र प्रभारी को लिखित निर्देश दिया जाए कि वे सामान्य मरीजों का वहीं उपचार करें। यदि किसी मरीज की स्थिति गंभीर है तभी उसे सिम्स भेजंे। ऐसा करने से गंभीर मरीजों को स्तरीय उपचार मिल सकेगा। पत्र मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी बीएमओ को नोटिस देने की तैयारी कर ली है। सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने बताया कि जल्द ही ब्लाक बीएमओ को नोटिस देकर रेफर के मामले कम करने को कहा जाएगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button