छत्तीसगढ़

बिलासपुर : मतगणना के दौरान कैमरे में कैद होगा एक-एक वोट

अंकित मिंज :

बिलासपुर।

प्रदेशभर के ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका को लेकर कांग्रेस द्वारा उठाए गए मुद्दे के बाद भारत निर्वाचन आयोग ने मतगणना के दौरान एक-एक वोट को कैमरे में कैद करने का निर्णय लिया है।

प्रदेशभर के कलेक्टरों को पत्र लिखकर वोटों की गिनती के दौरान विधानसभावार वीडियोग्रॉफी कराने फरमान जारी किया है। यही नहीं मतगणना का कार्य पूरा होने के बाद सभी उम्मीदवारों को वीडियोग्रॉफी की सीडी भी दी जाएगी ।

11 दिसंबर को वोटों की गिनती की जाएगी। मतगणना में अभी भी छह दिन शेष हैं। 20 नवंबर को प्रदेश में दूसरे चरण का मतदान पूरा हुआ । मतदान और मतगणना की तिथि में काफी अंतर होने के कारण कांग्रेस लगातार इस बात को लेकर आशंका जाहिर कर रही है कि सत्ताधारी दल हार देख गड़बड़ी कर सकता है।

कांग्रेस का आरोप है कि आला अधिकारी भी सत्ताधारी दल को भीतर ही भीतर सहयोग कर रहे हैं। इस बार उम्मीदवारों को एआरओ की नियुक्ति का अधिकार भी नहीं दिया जा रहा है। इसे लेकर भी विवाद की स्थिति बनती जा रही है।

पहले ईवीएम फिर एआरओ की नियुक्ति पर बैन से कांग्रेस को अब इस बात की आशंका हो चली है कि राज्य सरकार के इशारे पर अधिकारी कुछ भी कर सकते हैं। प्रदेश कांगे्रस कमेटी द्वारा लगातार भारत निर्वाचन आयोग से शिकायत की जा रही है।

शिकायत के साथ ही गड़बड़ी की आशंका भी जाहिर की जा रही है। भारत निर्वाचन आयोग मतगणना के दौरान पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्रॉफी कराने का निर्णय लिया है। 11 दिसंबर को जैसे ही आब्जर्वरों की मौजूदगी में मतगणना की प्रक्रिया प्रारंभ होगी वीडियोग्रॉफी शुरू की जाएगी।

कोनी स्थित स्ट्रांग रूम में जिले के सात विधानसभा क्षेत्रों के वोटों की गिनती होगी । लिहाजा सभी सातों विधानसभा के वोटों की गिनती के दौरान पूरे समय एक.एक वोट को कैमरे में कैद किया जाएगा । सुबह सात बजे प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र हेतु निर्धारित स्ट्रांग रूम संबंधित प्रेक्षक के समक्ष खोले जाएंगे।

स्ट्रांग रूम खोलते समय संबंधित अभ्यर्थी अथवा उसका निर्वाचन अभिकर्ता उपस्थित रह सकते हैं। इसके अतिरिक्त किसी अन्य व्यक्ति को उपस्थित रहने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सात विधानसभा क्षेत्र के लिए मतगणना कक्ष ग्राउंड फ्लोर पर बनाए गये हैं।

जिनमें से विधानसभा मरवाही के लिए कक्ष क्रमांक तीन, कोटा विधानसभा कक्ष क्रमांक दो, तखतपुर विधानसभा के लिए कक्ष क्रमांक सात, बिह्ला विधानसभा कक्ष क्रमांक छह, बिलासपुर विधानसभा के लिए कक्ष क्रमांक पांच,

बेलतरा विधानसभा कक्ष क्रमांक चार और मस्तूरी विधानसभा कक्ष क्रमांक एक में वोटों की गिनती की जाएगी । सभी मतगणना कक्षों में 14- 14 टेबल में मतगणना की जाएगी। डाक मतपत्रों की गणना के लिए दो टेबल रखे जाएंगे।

एक उम्मीदवार नियुक्त कर सकेंगे 16 मतगणना एजेंट

सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए मतगणना एजेंटों की नियुक्ति सात दिसंबर को शाम पांच बजे तक की जाएगी। प्रत्येक उम्मीदवार द्वारा अधिकतम 16 मतगणना एजेंट नियुक्त किए जा सकेंगे। 14 एजेंट मतगणना टेबलों पर तथा दो एजेंट पोस्टल बैलेट पेपर की गणना के समय अतिरिक्त सहायक रिटर्निंग ऑफिसर के टेबल पर नियुक्त रह सकते हैं।

अलग-अलग विधानसभा के गणना एजेंटों को अलग-अलग रंग का जारी होगा प्रवेश पत्र

जिला निर्वाचन कार्यालय ने मतगणना के दौरान विधानसभावार उम्मीदवारों के मतगणना एजेंटों को अलग-अलग रंग का प्रवेश पत्र जारी करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा मतगणना एजेंटों, अभ्यर्थियों और उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं को मतगणना कक्ष तक पहुंचने के लिए अलग-अलग प्रवेश द्वार भी बनाए गए हैं।

इस पर रहेगी पाबंदी

मतगणना केंद्र में मोबाईल फोनएकैमराए केलकुलेटर अथवा अन्य किसी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी और न ही वीडियोग्राफी की अनुमति दी जाएगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
बिलासपुर : मतगणना के दौरान कैमरे में कैद होगा एक-एक वोट
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags