8.73 करोड़ के जब्त जेवर में मात्र 2 करोड़ रुपए के मिले बिल

पूरी ज्वेलरी राजधानी और अासपास के 69 कारोबारियों की

रायपुर:-रायपुर एयरपोर्ट के कार्गो कांप्लेक्स के सामने 8.73 करोड़ के जब्त जेवर में मात्र 2 करोड़ रुपए के बिल मिले। पूरी ज्वेलरी राजधानी और अासपास के 69 कारोबारियों की है। इनमें से 13 कारोबारियों के जेवर बिल के साथ मिले हैं। बाकी ज्वेलरी 56 व्यापारियों की है, जिसके बिल नहीं हैं।

जीएसटी ने इसे टैक्स चोरी का मामला करार देते हुए जुर्माने का असेसमेंट शुरू कर दिया है। अफसरों ने बताया कि ज्वेेलरी से भरा यह पैकेट मुंबई से इंडिगो की फ्लाइट (6ई801) से द्राक्षी लॉजिस्टिक कुरियर कंपनी ने भेजा था।

रायपुर के चार लोगों ने इस पैकेट को रिसीव किया। इन्हें रायपुर के ही कुछ सराफा कारोबारियों का कर्मचारी बताया गया है। सूत्रों के अनुसार सेंट्रल जीएसटी के अफसरों को इस बात की सूचना पहले ही मिल गई थी कि मुंबई से ज्वेलरी का एक बड़ा पैकेट रायपुर भेजा गया है।

इस सूचना के बाद ही अपर आयुक्त अजय के निर्देश पर सहायक आयुक्त शिवी सांगवान (निवारक) के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई। इसमें अधीक्षक, निरीक्षक एवं हवलदार को शामिल किया गया। फ्लाइट के आने के कुछ घंटे पहले ही अफसरों की टीम पुराने एयरपोर्ट में बने कार्गो कांप्लेक्स में पहुंच गई।

इस पुराने एयरपोर्ट से ही सभी सामान का आना-जाना लगा रहता है। टीम ने संदिग्ध लोगों को कार्गो कांप्लेक्स से पैकेट छुड़ाकर एयरपोर्ट के बाहर पहुंचते ही अपने कब्जे में ले लिया। बाद में इन सभी को जीएसटी कार्यालय लाया गया और वहां पर पंचों की उपस्थिति में पंचनामा कार्रवाई की गई।

बिल वाली ज्वेलरी छूटेगी:

विभाग ने उन सभी कारोबारियों को सूचना दे दी है जिनकी ज्वेलरी के साथ बिल है। इन सभी 13 व्यापारियों को 100% मूल्य के बॉन्ड और उसकी 25% की बैंक गारंटी जमा करवाने पर माल को अंतरिम तौर पर छोड़ दिया जाएगा। बाकी पर जुर्माना लगेगा।

Back to top button