छत्तीसगढ़

बिलौरी के ग्रामीणों ने लाया ठूरलू खोटला

विश्वप्रसिद्ध दशहरे की परंपरानुसार तैयारी

–अनुराग शुक्ला

जगदलपुर. विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरे का आगाज़ होने को है। इससे पहले परंपरा अनुसार दशहरे के लिए बनने वाले रथ के लिए पहली लकड़ी जिसे ठूरलू खोटला कहा जाता है, बिलौरी के ग्रामीणों ने शहर में गुरूवार की दोपहर लाया। बैलगाड़ी में इस लकड़ी को लेकर मां दंतेश्वरी के जयघोष के साथ बिलौरी के ग्रामीण शहर पहुंचे। यहां पर उन्हें दशहरा कमेटी के प्रमुख सदस्य आरआई अर्जुन श्रीवास्तव ने इस लकड़ी को मां दंतेश्वरी मंदिर के प्रांगण के सामने रखवाया। दो दिन बाद रीति रिवाज के अनुसार ठूरलू खोटले पर बकरे की बलि दी जाएगी और इसके साथ ही बस्तर दशहरे का विधान शुरू होगा। दशहरा पूरे 75 दिन चलेगा।

Back to top button