खेल

बिंद्रा ने औद्योगिक घरानों को कहा क्रिकेट छोड़ ओलंपिक पर दें ध्यान

नई दिल्ली : भारत के लिए एकमात्र व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने वाले निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने कहा कि क्रिकेट के पास धन जरूर है लेकिन अब वक्त की जरूरत है कि औद्योगिक घराने इससे इतर ओलंपिक गेमों पर भी अध्यान दें और उनमें निवेश करें।

पांच बार का ओलंपियन एक कार्यक्रम में यहां अपने करियर को लेकर बात कर रहा था। रियो ओलंपिक, 2016 के बाद बिंद्रा ने खेल से संन्यास ले लिया था। उन्होंने कहा- मुझे लगता है कि भारतीय खेल जगत में बदलाव की जरूरत है। औद्योगिक घरानों को क्रिकेट से इतर दूसरे खेलों का समर्थन करना होगा। ओलंपिक में शामिल खेलों में और ज्यादा निवेश करने की जरूरत है।

10 साल पहले 2008 में बीजिंग ओलंपिक खेलों में 10 मीटर एयर रायफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाले खिलाड़ी ने कहा- मैं अमेरिकी ओलंपिक समिति का उदाहरण दे सकता हूं। अमेरिकी ओलंपिक समिति को सरकार से एक डॉलर की भी सब्सिडी नहीं मिलती, उन्हें सारा पैसा औद्योगिक घरानों से मिलता है। अमेरिका और भारत में चीजें अलग हैं।

उन्होंने कहा- दूसरी चीज शासन से जुड़ी है, मुझे लगता है कि हमारे देश के खेल शासन में बदलाव लाने की जरूरत है। सुशासन की जरूरत है। बदलाव तभी होगा जब वह अनिवार्य हो जाएगा। मुझे लगता है कि उस क्षेत्र में काम हो रहा है। इसके लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति की जरूरत है और ऐसा होने पर, इससे भारतीय खेलों को बड़ा प्रोत्साहन मिलेगा।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.