छत्तीसगढ़

बढ़ा हुआ बिजली बिल थमाकर प्रदेश सरकार बिजली उपभोक्ताओं से धोखाधड़ी कर रही : भाजपा

0 बिजली बिल की वसूली तत्काल रोकें अन्यथा इस अन्याय के ख़िलाफ़ आंदोलन करेंगे : कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेशभर में बिजली उपभोक्ताओं को बढ़ा हुआ बिजली बिल थमाए जाने पर प्रदेश सरकार की नीयत पर सवाल उठाया है।

कौशिक ने कहा कि विजली बिल हाफ का नारा देने वाले कांग्रेस के सत्ताधीशों ने कोरोना-काल में दो माह का बिजली बिल माफ करने की बात कही थी लेकिन अब प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ाने का काम कर रहे हैं। यह कृत्य बिजली उभोक्ताओं के साथ भी धोखाधड़ी ही है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर अपने झूठ, वादाख़िलाफ़ी और दग़ाबाजी के जिस राजनीतिक चरित्र का प्रदर्शन हर वर्ग के साथ किया है, उस सूची में अब प्रदेश के बिजली उपभोक्ता भी शुमार हो गए हैं।

पहले बिजली बिल हाफ का नारा देकर प्रदेश में बिजली की आपूर्ति ही हाफ कर देने वाली प्रदेश सरकार ने झूठी वाहवाही बटोरने के लिए कोरोना संकट के मद्देनज़र दो माह का बिजली बिल माफ करने की घोषणा की और अब उन्हें एक साथ दो माह का भारी-भरकम राशि का बिल थमाकर प्रदेश सरकार उनके साथ भी अन्याय की पराकाष्ठा करने पर आमादा है।

कौशिक ने कहा कि भारी-भरकम राशि का बिल देखकर प्रदेश के बिजली उपभोक्ता हैरान हैं और वे भी अब ख़ुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि प्रदेश सरकार ने यह भी स्पष्ट नहीं किया है कि आख़िर कौन-से दो माह में बिजली उपभोक्ताओं का बिजली बिल माफ किया जाएगा?

कौशिक ने कहा कि एक तो प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते प्रभावितों की सहायता करने में पूरी तरह उदासीनता का परिचय दिया है और अब वादे के बावज़ूद बढ़ा हुआ दो माह का बिल माफ करने के बजाय उसे वसूल कर रही है, जो कोरोना-काल में आर्थिक रूप से परेशान लोगों के प्रति प्रदेश सरकार की बदनीयती को ज़ाहिर करने के लिए पर्याप्त है।

कौशिक ने प्रदेश सरकार से अपने वादे के मुताबिक़ दो माह के बिजली बिल की वसूली तत्काल रोककर दो माह के उक्त बिल को माफ करने की मांग की है और ऐसा न होने पर भाजपा द्वारा आंदोलनात्मक कदम उठाने चेतावनी दी है।

Tags
Back to top button