छत्तीसगढ़

राजनैतिक सुचिता के लिए संकल्पित है भाजपा – कौशिक

रायपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा द वायर वेबसाइट पर प्रकाशित खबर सिरे से तथ्यहीन है। जनता के द्वारा चुनावों में नकारे गए राजनेताओं द्वारा अब एक वेबसाइट के माध्यम से सियासी लाभ पाने के लिए इस तरह का दुष्प्रचार किया जा रहा है जिसकी हम निंदा करते है। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह राजनैतिक जीवन में सदैव सुचिता के लिए संकल्पित रहे है। कौशिक ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को आज पूरे राष्ट्र में जो देशवासियों की स्वीकारयता मिली है उसका कारण एक ओर कांग्रेस का आकण्ठ भ्रष्टाचार में डूबा होना और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बेदाग नेतृत्व तथा स्वच्छ और सुचिता की राजनीति करने वाली भारतीय जनता पार्टी। देश के जनमानस ने अपना निर्णय न केवल लोकसभा चुनावों में सुनाया अपितु इसकी पुनरावृत्ति कई राज्यों के विधानसभा चुनावों में सुनाई देती रही। आज नरेन्द्र मोदी जी और अमित शाह जी के संयुक्त नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी केवल राजनीतिक क्रियाकलाप तक सीमित नही है अपितु वह स्वच्छता अभियान, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं अभियान, कालेधन पर रोक के लिए नोटबंदी, एक देश एक कर की भावना के अनुरूप जीएसटी, बेरोजगारो के लिए मुद्रा योजना, किसानों के लिए फसल बीमा योजना जैसे अनेको कार्यक्रमों का सफलता पूर्वक क्रियान्वयन कर रहे है जो देश और देश की जनता को नई ऊंचाईयों पर स्थापित कर रहा है।
कौशिक ने कहा कि कांग्रेस ऐसे सार्थक कार्यक्रमों को जनमानस से मिल रहे व्यापक समर्थन से बौखला गई है। उनको अपना राजनीतिक भविष्य अंधकार में दिख रहा है। इसी हताशा के चलते उन्होंने हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष के पुत्र द्वारा किए जा रहे वैधानिक व्यवसाय पर झूठे आरोप लगाए है। कौशिक ने कहा कि कंपनी के द्वारा सारे लेनदेन चेक के माध्यम से हुए है। बैंक से ऋण भी प्रापर्टी गिरवी रखकर नियमों का पालन करते हुए लिया गया है और सबसे बड़ा सबूत जो अमित शाह जी के पुत्र द्वारा दिया गया है वह न्यायालय में इन आरोपो के खिलाफ 100 करोड़ की राशि का मानहानि का मुकदमा दायर करना । कौशिक ने कहा कि यदि जय शाह यदि गलत होते तो वे स्वयं होकर न्यायालय में वाद प्रस्तुत क्यों करते? कौशिक ने कांग्रेस को सलाह दी कि झूठ के पांव नही होते है और जनता की अदालत ने तो उनके खिलाफ विगत चुनावों में फेसला सुना ही दिया है और भविष्य में कानूनी अदालत भी ऐसे मिथ्या आरोपो पर उन्हें आवश्य प्रताड़ित करेंगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
Kaushik
Author Rating
51star1star1star1star1star

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *