राष्ट्रीय

BJP के बाद अब JDU ने भी कसी कमर

पटना: भाजपा द्वारा इस घोषणा के बाद कि वह राज्य की सभी 40 लोकसभा सीटों पर चुनाव को तैयारी करेगी. अब जनता दल यूनाइटेड ने भी ऐलान किया है कि पार्टी राज्य की सभी 40 लोकसभा सीटों पर अपना संगठन मज़बूत करेगी. ये घोषणा पार्टी की राज्य कार्यकारिणी की बैठक के बाद पार्टी महासचिव और सांसद आरसीपी सिंह ने की. हालांकि इसका कोई ऐसा मतलब नहीं कि पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी लेकिन पिछले चुनाव में पार्टी को महज दो लोकसभा सीट पूर्णिया और नालंदा पर जीत मिली थी. हालांकि अभी यह तय नहीं है कि पार्टी के खाते में चुनाव के वक्त कौन सी सीटें आएंगी. पार्टी नेताओं को उम्मीद है कि इस मुद्दे पर नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच बातचीत के बाद पार्टी को समानजनक सीटें मिलेंगी.

शराबबंदी से पीछे हटने का सवाल नहीं

पार्टी की बैठक में जहां राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने साफ़ किया कि जब तक वो मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे हैं, तब तक राज्य में शराबबंदी से पीछे हटाने का कोई सवाल नहीं. नीतीश , शराबबंदी के बाद अब गांधी जयंती से राज्य में दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ भी अभियान शुरू करने वाले हैं. नीतीश और जेडीयू इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि जैसे राज्य में बिजली व्यवस्था का मज़ाक़ उड़ाके भाजपा ने विधानसभा चुनावों में इस मुद्दे पर नीतीश को पूरा श्रेय लेने का मौक़ा दिया वैसे शराबबंदी पर लालू ने अपने बयानों से एक बार फिर इस मुद्दे पर वोट समेटने के लिए उन्हें और उनकी पार्टी को वॉकओवर दे दिया है.

रविवार के संवादाता सम्मेलन में पार्टी के नेता ख़ासकर रामचंद्र प्रसाद सिंह ने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव पर हमला बोला. सिंह नीतीश के क़रीबी माने जाते हैं. उन्होंने शरद यादव की प्रस्तावित बिहार यात्रा पर कहा कि उन्हें पहले अपने गृह राज्य मध्य प्रदेश का दौरा करना चाहिए कि आख़िर उनकी वहां कितनी राजनीतिक ज़मीन बची है. बिहार में अब उनका कुछ नहीं बचा ये कहते हुए सिंह ने कहा कि अपने समय उन्होंने कभी मध्य प्रदेश में पार्टी के लिए कुछ नहीं किया. नीतीश और उनके क़रीबी जबसे शरद ने बग़ावती स्वर अख़्तियार किए हैं, हमेशा इस बात का उदाहरण देते हैं कि शरद यादव के समय उनके गृह जिले जबलपुर में पार्टी का कभी खाता नहीं खुला.

बिहार कांग्रेस पार्टी में चल रही उठापटक पर पार्टी के नेताओं खाकर राज्य इकाई के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने साफ़ किया कि उनकी पार्टी किसी तोड़-फोड़ के पक्ष में नहीं हैं. ये कांग्रेस पार्टी का आंतरिक मामला हैं और इस पूरे विवाद में अनायास जनता दल यूनाइटेड को घसीटा जा रहा है.

Related Articles

Leave a Reply