छत्तीसगढ़

भाजपा नेता ने नींद की गोली खाकर की आत्महत्या

शव को दो डाक्टरो ने पीएम किया जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है।

पलारी। नगर के दवा व्यवसायी एवं युवा भाजपा नेता अनुसूचित जाति मोर्चा के मंडल कोषाध्यक्ष राहुल डण्डों ने मंगलवार की रात्रि अपने दोस्त के घर ग्राम कुकदा में नींद की दवाई खाकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में परिवार के लोगों ने पलारी पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है, जबकि पुलिस इस आरोप को निराधार बता रही है। शव को दो डाक्टरो ने पीएम किया जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है। वहीं पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

जानकारी के अनुसार नगर पंचायत के वार्ड 14 निवासी राहुल डण्डों पिता राम लाल (36) के खिलाफ नगर की एक लड़की ने धमकी देने की लिखित शिकायत पुलिस थाने में 16 अक्टूबर को की थी। इसी लड़की ने पहले मृतक के छोटे भाई रवि पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था जिसके चलते रवि को जेल भेजा गया था।

वर्तमान में रवि हाईकोर्ट से जमानत मिलने पर 20 दिन पहले ही जेल से छूटकर बाहर आया है। वहीं इसी लड़की ने राहुल पर धमकी देने का लिखित आरोप लगाया तो पुलिस थाना प्रभारी सीआइ चंद्रा ने राहुल को नोटिस देकर थाने में बुलाकर पूछताछ की। बताया जाता है कि इसी दौरान पुलिस ने राहुल को जेल भेज देने के नाम पर धमकाया और प्रताड़ित किया, जिससे राहुल पुलिस के डर से तत्काल गांव छोड़कर 10 दिनों तक फरार हो गया और दो दिन पहले ही गांव लौटा था।

घर पर परेशान होते हुए परिवार के लोगों से पुलिस प्रताड़ना की बात उसने बताई थी। ज्ञात हो कि राहुल पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल के खास समर्थक माने जाते थे।

राहुल ने बताया था पुलिस प्रताड़ित कर रही है

मृतक के छोटे भाई रवि डण्डों ने पुलिस को दिए अपने बयान पर थाना प्रभारी सीआर चंद्रा के ऊपर आरोप लगाते हुए बताया कि लड़की की शिकायत के बाद पुलिस ने भाई को लगातार परेशान कर उसे हतकडी लगाकर जेल भेज देने और मेरी जमानत खारिज कराने की धमकी देकर प्रताड़ित किया।

इससे राहुल काफी भयभीत हो गया और इज्जात के डर और पुलिस प्रताड़ना के कारण आत्महत्या कर ली। उन्होंने कहा कि दोषी पुलिस के खिलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button