छत्तीसगढ़

भाजपा नेता रेशम लाल गायकवाड़ को आखिरकार पुलिस ने धारा 420 के तहत किया गिरप्तार

लोन में छूट दिलाने के नाम पर लाखों रूपये डकारने का आरोप

रायपुर:दुर्ग जिले की अंजोर पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी के नेता रेशम लाल गायकवाड़ को आखिकार गिरफ्तार कर उन पर धारा 420 लगा दिया है. गायकवाड़ पर राजनांदगांव जिला क्षेत्र के किसानों व आम लोगों को लोन में छूट दिलाने के नाम पर लाखों रूपये डकारने का आरोप है.

दो साल पहले ध्यान में आया यह मामला

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह मामला दो साल पहले तब ध्यान में आया था जब बैंक ने किसानों को ऋण वसूली का नोटिस भेजना शुरू किया. कागजातों के अनुसार तीन वर्ष पहले सन 2016—17 में क्षेत्र के सैकड़ों किसानों एवं आम लोगों को उक्त भाजपा के नेता ने लोन में छूट दिलाने के नाम पर ठगी करते हुए मात्र आधार कार्ड एवं फोटो के सहारे फर्जी तरीके से कूटरचित दस्तावेज तैयार कर दुर्ग जिले के केनरा बैक से लाखों रूपये का लोन दिलवाया और किसानों की आधी रकम खुद ऐंठ ली.

नही मिलीकिसानों और हितग्राहियों से लोन की किस्त

इधर बैक को जब छह माह बाद भी किसानों और हितग्राहियों से लोन की किस्त नही मिली तब वसूली के लिए बैंक ने किसानों को नोटिस जारी किए तब जाकर इस मामले का किसानों को पता लगा कि उनके साथ धोखा हुआ है जिसकी शिकायत आज से एक वर्ष पूर्व थाना घुमका एवं पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव को लिखित में की गई थीं.

किंतु घुमका पु​िलस ने प्रांरभिक जांच कर उक्त मामला दुर्ग जिले के पुलगांव थाने को हस्तांतरित कर दिया जिसके बाद उक्त मामले की फाइल पुलगांव थाने के अंतर्गत अंजोरा चौकी को जांच हेतु सौंप दी गई थी.

इसके बाद लगभग 10 माह तक चली लंबी जांच के बाद अंजोरा पुलिस ने आरोपी नेता रमेश लाल गायकवाड़ के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज किया था. उस समय राजनीतिक दबाव और दल की सरकार होने के कारण पुलिस गायकवाड़ को बख्शती रही लेकिन अब कांग्रेस नेताओं के दवाब के बाद पुलिस ने अंतत: रमेश को गिरफतार कर लिया और न्यायालय ने रिमाण्ड में देने के बाद जेल भेज दिया गया.

दूसरी ओर भाजपा से जुड़े सूत्रों ने बताया कि रेशम लाल गायकवाड़ कई सालों तक भाजपा मण्डल में पदाधिकारी रहा परंतु कुछ महीनों से वह निष्क्रिय था. मामला दर्ज होने के बाद भी पार्टी ने उससे दूरी बना ली थी.

Tags
Back to top button