क्राइमराष्ट्रीय

पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता की पुलिस थाने के पास गोली मारकर हत्या

मनीष के दो सहयोगी बीजेपी कार्यकर्ता भी उन्हें बचाने के चक्कर में घायल हो गए

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में तीतागढ़ पुलिस स्टेशन से कुछ कदमों की दूरी पर हमलावरों ने भारतीय जनता पार्टी के नेता मनीष शुक्ला पर पीछे से कई गोलियां दागी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. मनीष के दो सहयोगी बीजेपी कार्यकर्ता भी उन्हें बचाने के चक्कर में घायल हो गए.

मनीष शुक्ला बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र के स्थानीय सांसद अर्जुन सिंह के करीबी थे. और दो साल पहले उनके साथ ही बीजेपी में शामिल हो गए थे. पहले दोनों टीएमसी (Trinamool Congress) में थे. बीजेपी ने टीएमसी शासन में बीजेपी कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने के विरोध में बैरकपुर बंद का ऐलान किया है.

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि ममता राज में थाने के सामने बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. ऐसे में ममता की पुलिस पर उन्हें भरोसा नहीं है. उन्होंने सांसद अर्जुन सिंह की जान को भी खतरा बताया.

जानकारी के मुताबिक दोनों हमलावर मोटरसाइकिल पर सवार थे और मास्क के साथ ही हेलमेट पहने हुए थे. उन्होंने मनीष शुक्ला पर पीछे से कई फायर किए और दब वो गिर गए तो उनके सीने में भी गोलियां दागी.

ये सब कुछ तीतागढ़ पुलिस स्टेशन के पास हुआ, जहां से उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. हमले में मनीष को बचाने की कोशिश कर रहे उनके दो सहयोगी भी घायल हो गए.

राज्यपाल ने मुख्यमंत्री और डीजीपी को किया तलब

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य के डीजीपी को तलब किया है. रात 11.40 मिनट पर इस बारे में राज्यपाल ने उन्हें तलब किया और सुबह 10 बजे तक पहुंचने के निर्देश दिए. वो बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले के साथ ही राज्य में लगातार खराब हो रही कानून व्यवस्था के लेकर बेहद नाराज हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button