बीजेपी नेता ने इन चार विधायकों की गैरमौजूदगी को बताया पार्टी में दरार

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गैरमौजूद रहे चार विधायक

बेंगलुरु: कर्नाटक में विधायक दल की बैठक में चार काग्रेसी विधायकों के गैरमौजूद रहने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) महासचिव पी मुरलीधर राव ने शुक्रवार को बयान दिया है. बयान में महासचिव पी मुरलीधर राव ने कर्नाटक में कांग्रेस को कम समय का सरकार बताया है.

बीजेपी महासचिव पी मुरलीधर राव ने कहा कि कर्नाटक के पूर्व मंत्री रमेश जारकीहोली समेत चार कांग्रेस विधायकों की यहां पार्टी विधायक दल की बैठक से अनुपस्थिति देश की सबसे पुरानी पार्टी में मौजूद स्पष्ट दरार दिखाती है.

कर्नाटक में बीजेपी मामलों के प्रभारी राव ने कहा, अहम बात यह है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी में पूरी तरह अव्यवस्था है. कांग्रेस कुछ अंदरुनी समस्या का सामना कर रही है, इसलिये उन्होंने शक्ति प्रदर्शन के लिए कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) का आयोजन किया था.‘

उनकी यह टिप्पणी चार काग्रेसी विधायकों के पार्टी विधायक दल की बैठक में गैरमौजूद रहने के बाद आई है. कर्नाटक में ग‍ठबंधन सरकार को कथित तौर पर बीजेपी द्वारा गिराने की कोशिशों के बीच शक्ति प्रदर्शन के लिये इस बैठक का आयोजन किया गया था.

राव ने कहा,’इस तरह की राजनीतिक अस्थिरता की मौजूदगी में, कुमारस्वामी सरकार टिकी नहीं रह सकती. एक मात्र चीज जो हम कह नहीं सकते वह यह है कि वह कब गिरेगी. क्या वह आज गिरेगी, कल गिरेगी या अबसे तीन-चार महीने बाद. मैं नहीं जानता.‘ उन्होंने कहा, ‘जिस तरह की चीजें हो रही हैं वह कर्नाटक के लोगों के लिये अच्छी नहीं हैं.

बीजेपी के 104 विधायकों के कर्नाटक कब लौटने की उम्मीद है इस बारे में पूछे जाने पर राव ने कहा, ‘गुड़गांव (गुरुग्राम) कर्नाटक के विधायकों का स्थायी ठिकाना नहीं है. आज या कल वे वापस आएंगे. उनकी गणना में कोई समस्या नहीं है.

advt
Back to top button