छत्तीसगढ़

भाजपा के नेताओं ने अपने माथे का तिलक नहीं, बल्कि अपना भाग्य पोंछ डाला है : महंत

रायपुर।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष, कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ चरण दास महंत ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के एक वायरल वीडियो पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी सत्ता के मद में इतनी चूर हो गई है कि उसे अब ईश्वर का भी डर नहीं रहा।

विकास यात्रा का शुभारंभ करने डोंगरगढ़ पहुंचे, हिन्दू राष्ट्र बनाने का संकल्प लेने वाली पार्टी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और उनके साथ छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने माँ बम्बलेश्वरी देवी के मंदिर से निकलते ही अपने अपने माथे का तिलक नहीं बल्कि अपना भाग्य पोंछ डाला है। यह हिंदू धर्म और भारतीय संस्कृति से जुड़े हुए लोगों के साथ न केवल छलावा है व इन ढोंगी नेताओं के असली चरित्र का परिचायक भी है।

डॉ चरण दास महंत ने कहा कि भाजपा के इन घमंडी नेताओं पर यह कहना उचित है कि विनाश काले विपरीत बुद्धि भाजपा के नेताओं ने हिंदू धर्म का अपमान किया है और इसकी सजा उन्हें आने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में माता बम्बलेश्वरी देवी जरूर देंगी।

डॉ चरण दास महंत ने कहा है कि वीडियो में यह साफ दिखाई दे रहा है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, माँ बमलेश्वरी देवी के दर्शन करने के बाद उनके आशीर्वाद के रूप में उनके माथे पर जो तिलक लगा था, उसे उन्होंने अपने रुमाल से पोंछ दिया, यही नहीं अमित शाह जब अपने माथे पर लगे तिलक को पोंछने में सफल नहीं हुए तो उन्होंने अपने असिसटेंट को भी इस काम में लगा दिया और वह भी पानी की बोतल और रुमाल लेकर अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष के माथे पर लगा हुआ तिलक पोंछने लगे।

डॉ चरण दास महंत ने कहा कि भाजपा के इन नेताओं का घमंड इस कदर बढ़ चुका है कि उन्हें ईश्वर का भी डर नहीं है जिस तरीके से उन्होंने माता रानी के आशीर्वाद के रूप में माथे पर लगा हुआ तिलक पोंछकर माता रानी बमलेश्वरी देवी का अपमान किया है उसी प्रकार से माता रानी के ही प्रताप से छत्तीसगढ़ की जनता इन घमंडी नेताओं को और उनकी पार्टी भाजपा को छत्तीसगढ़ से हमेशा के लिए छत्तीसगढ़ की सत्ता से उखाड़ फेंकेगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
भाजपा के नेताओं ने अपने माथे का तिलक नहीं, बल्कि अपना भाग्य पोंछ डाला है : महंत
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt