तथ्यों पर बात करने वाली भाजपा नेत्री मुहावरों का ले रही हैं सहारा : कांग्रेस

रायपुर: प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मो. असलम ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी में आगामी चुनाव के अंतर्गत नेतृत्व को लेकर छिड़ा विवाद, भाजपा के आतंरिक लड़ाई का हिस्सा है, जो बीच-बीच में उभरता रहता है।

एक बार फिर से भाजपा के इस आंतरिक बहस ने नेतृत्व के मुद्दे को फिर से छेड़ दिया है, जो भाजपा की अंतःकलह को दर्शाता है। दरअसल भाजपा नये चेहरों को सामने लाना चाहती है ताकि प्रदेश में गिरती साख को बचाये रखा जा सके। पर इस बार जनता समझ चुकी है और उन्हें सफलता नहीं मिलने वाली है।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मो. असलम ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडेय द्वारा कोरबा के बाद रायपुर में कार्यसमिति की बैठक के दौरान अपने बयान में तथ्यों पर आधारित बात करने की दुहाई दी थी, पर उन्होने केरल के मुद्दे पर दिये बयान को तथ्यों पर नहीं बल्कि मुहावरों के आधार पर दिया गया बयान बताया, जो स्पष्ट करता है कि जब अलोकतांत्रिक बयान हो और मामला विवादस्पद हो तो मुहावरा बता दिया जाये। इसी तरह देश की जनता को गुमराह करते हुये भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने केन्द्र में सरकार बनने के बाद प्रत्येक परिवार को विदेशों से कालाधन लाकर 15-15 लाख देने के वायदों को जुमला करार दिया था। जाहिर है भाजपा की कथनी और करनी में काफी फर्क है यही कारण है कि अब भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है और वह पूरी तरह से बेनकाब हो गयी है।

1
Back to top button