राज्य

पटना में बाल-बाल बचे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, हवा में 40 मिनट मंडराता रहा हेलीकॉप्टर

हुई इमरजेंसी लैंडिंग

बिहार विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी के लिए ताबड़तोड़ प्रचार में लगे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी आज बाल-बाल बच गए। दरअसल गुरुवार सुबह पटना एयरपोर्ट से चुनाव प्रचार में जाने के लिए जैसे ही उनके हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरा उसमें तकनीकी खराबी आ गई। इसके कारण हेलीकॉप्टर का पटना हवाई अड्डा के एटीसी से संपर्क कट गया। इसके बाद करीब 40 मिनट तक हेलीकॉप्टर हवा में ही मंडरता रहा। उसके बाद पायलट की सूझबूझ से पटना हवाई अड्डे पर ही उसकी आपातकालीन लैडिंग करवानी पड़ी।

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी के साथ हेलीकॉप्टर में सफर कर रहे नील बख्शी ने घटना के बारे में बताया कि सासंद मनोज तिवारी आज सुबह 10.10 बजे पटना से बेतिया जाने के लिए हेलिकॉप्टर में सवार हुए थे। बेतिया में उन्हें एक चुनावी रैली में हिस्सा लेना था। लेकिन उड़ान भरने के तुरंत बाद ही उसका एयर ट्रैफिक कंट्रेाल (एटीसी) से संपर्क टूट गया और हेलीकॉप्टर हवा में मंडराता रहा। इसके बाद पायलट ने मैनुअल बुक का इस्तेमाल किया और इमरजेंसी लाइट्स ऑन कर एटीसी को सिग्नल भेजे। उन्होंने बताया कि 40 मिनट के बाद किसी तरह एटीसी से संपर्क हो सका, जिसके बाद अन्य उड़ानों को रोककर हेलीकॉप्टर को सुरक्षित पटना हवाई अड्डे पर उतारा गया।

नील बख्शी ने बताया कि घटना में सांसद मनोज तिवारी पूरी तरह सुरक्षित हैं। उन्होंने बताया कि बेतिया जाने के बाद सांसद को मोतिहारी के कल्याणपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित करना था। उन्होंने बताया कि बाद में एक दूसरा हेलीकॉप्टर आया, जिससे सांसद तिवारी चुनावी प्रचार के लिए रवाना हो गए। इस घटना की वजह से चुनाव प्रचार में जाने के लिए एयरपोर्ट आए दूसरे कई नेताओं के उड़ान भरने में देरी आई। इनमें केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय भी शामिल रहे।

गौरतलब है कि पटना एयरपोर्ट पर किसी नेता के हेलिकॉप्टर के साथ इस तरह की यह दूसरी घटना है। कुछ दिनों पहले ही केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के हेलीकॉप्टर का पंखा हवाई अड्डा के तारों में फंसकर दीवारों से टकरा गया था, जिससे हेलीकॉप्टर के पंखे क्षतिग्रस्त हो गए थे। इस हादसे के दौरान रविशंकर प्रसाद के साथ बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे भी हेलिकॉप्टर में मौजूद थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button