राष्ट्रीय

उपवास पर सरकार, कर्नाटक में धरने पर बैठे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

बीजेपी के तमाम मंत्री और सांसद देश के कई अलग अलग शहरों में उपवास पर

नई दिल्ली : आम तौर पर सरकार के खिलाफ विरोध करने के लिए मुख्य हथियार अनशन होता था, लेकिन आज मोदी सरकार ही अनशन पर बैठी है। संसद का बजट सत्र बाधित होने पर विपक्ष ने नाराज प्रधानमंत्री समेत बीजेपी के तमाम मंत्री और सांसद देश के कई अलग अलग शहरों में उपवास पर बैठे है। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि हमारा उपवास असली है। छोले भठूरे वाला नहीं है।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने उपवास के दौरान ही चेन्नई में डिफेंस एक्सपो का उद्घाटन किया। इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के हुबली में उपवास रख धरने पर बैठे हैं। मुंबई में उपवास पर बैठे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि कांग्रेस और विपक्षी पार्टियों ने संसद को चलने नहीं दिया, जिसके कारण हमें उपवास करना पड़ रहा है। इससे पहले पीएम मोदी ने अनशन के लिए सांसदों को ऑडियो संदेश दिया।

विपक्ष द्वारा संसद में गतिरोध उत्पन्न कर देश की विकास यात्रा को बाधित करने के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा के सांसद देश भर में दिनांक 12 अप्रैल 2018 को प्रात: 10 से सायं 5 बजे तक ‘लोकतंत्र बचाओ उपवास एवं धरना’ कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

कौन-कौन कहां उपवास पर –

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी – चेन्नई

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह – कर्नाटक के हुबली में.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह – नई दिल्ली

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज – नई दिल्ली

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान – नई दिल्ली

रेल मंत्री पीयूष गोयल – नई दिल्ली

विनय सह्रबुद्धे – नई दिल्ली

केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु, मेनका गांधी और सांसद मीनाक्षी लेखी – दिल्ली के हनुमान मंदिर.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद – पटना

गिरिराज सिंह – बिहार के नवादा

राधा मोहन सिंह – मोतिहारी

मुख्तार अब्बास नकवी – रांची

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण – चेन्नई

मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर – बेंगलुरु

महेश शर्मा – नोएडा

जेपी नड्डा – वाराणसी

थावरचंद गहलौत – इंदौर

वीरेंद्र सिंह – हरियाणा के जींद,

केजे अल्फोंस – केरल

एमजे अकबर – विदिशा

नारायण राणे – महाराष्ट्र

ओपी माथुर – ओडिशा

भूपेंद्र यादव – अजमेर

बीजेपी नेताओं को सलाह

संसद का बजट सत्र बर्बाद होने के खिलाफ बीजेपी सांसदों के एक दिन के उपवास के लिए पार्टी ने कड़े नियम तय किए हैं। बीजेपी का आरोप है कि विपक्ष के चलते संसद का बजट सत्र पूरी बर्बाद हो गया। बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने अपने पार्टी नेताओं को सार्वजनिक जगहों पर खाने से बचने या खाते हुए कैमरे में आने से बचने की सलाह दी गई है।

कांग्रेस ने भी रखा था उपवास

हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस पार्टी ने देशभर में उपवास रखा था। कांग्रेस का ये उपवास मोदी सरकार के राज में दलितों के खिलाफ हो रहे अत्याचार को लेकर था। लेकिन इस उपवास में भी काफी विवाद हुआ। पहले सिख दंगों के आरोपी नेता जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार दिल्ली में उपवास वाले पंडाल पहुंचे तो बाद में दिल्ली कांग्रेस के नेताओं की छोले-भटूरे खाती हुई तस्वीर ने बवाल कर दिया।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.