पूरे प्रदेश में कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा जनजाति मोर्चा का हल्लाबोल

जन घोषणा पत्र में आदिवासियों से किये एक-एक वादा पूरा करना होगा - विकास मरकाम

रायपुर: आज पूरे प्रदेश में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने भूपेश बघेल की कांग्रेस सरकार के खिलाफ हल्ला बोला। प्रदेश में कांग्रेस के सभी आदिवासी विधायको के निवास के सामने प्रदर्शन करते हुये मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में आदिवासी समाज से किये वादे याद दिलाया और उन्हें चेतावनी दिया कि कांग्रेस सरकार यदि इन वादों को पूरा नहीं करती तो परिणाम भुगतने के लिये तैयार रहे।

आज पूरे प्रदेश में प्रमुख रूप से रायपुर में आदिम जाति कल्याण एवं शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के निवास के सामने मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विकास मरकाम, मोर्चा के प्रदेश प्रभारी एवं राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिनेश कश्यप बस्तर, मोर्चा के सह प्रभारी सत्यानंद राठिया रायगढ़, मोर्चा के प्रदेश महामंत्री द्वय सत्यनारायण सिंह सूरजपुर और नंदलाल मुड़ामी दंतेवाड़ा में प्रदर्शन में शामिल होकर आदिवासी विधायकों को कुम्भकर्णी नींद से जगाने ज्ञापन दिया।

आज दिये गये ज्ञापन के बारे में बताते हुए भाजपा अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विकास मरकाम ने कहा कि भूपेश बघेल से मांग किया कि प्रदेश में समर्थन मूल्य पर लघु वनोपज के एक-एक दानों की खरीदी के लिए एक पारदर्शी नीति बनानी चाहिये। अपने जनघोषणा पत्र में किये वादे के अनुसार प्रदेश में वनाधिकार के निरस्त आवेदनों पर तत्काल कार्यवाही करते हुए सभी आदिवासी परिवारों को तत्काल वनाधिकार पट्टा प्रदान किया जाना चाहिये।

इसी प्रकार पांचवी अनुसूची क्षेत्रों में पेसा कानून का भी कड़ाई से पालन करते हुये रेत एवं अन्य गौण खनिजों के प्रबंधन का अधिकार ग्रामसभा के माध्यम से पंचायतों को दिया जाना चाहिए तथा छोटे-छोटे कृषि संबंधी कार्य जैसे कृषक की मृत्यु होने पर फौती उठाना, नामांतरण-बटांकन का कार्य तहसील कार्यालय से ना होकर ग्रामसभा की अनुमति से पंचायत के भीतर ही पटवारी कार्यालय से होना चाहिये।

भाजपा नेता ने भूपेश बघेल सरकार को आदिवासी विरोधी बताते हुए जनजाति वर्ग के शासकीय कर्मचारियों को भी उपेक्षित रखने का आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से जनजाति वर्ग के शासकीय सेवकों की पदोन्नति पर रोक लगी हुई है और उन्हें पदोन्नति में आरक्षण का लाभ भी नहीं मिल पा रहा है।कांग्रेस की सरकार ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र धारक शासकीय सेवकों पर भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है।

भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली ये प्रदेश सरकार पूरी तरह फेल है और आदिवासी समाज को किये एक भी वादा उसने पूरा नहीं किया है। यह ज्ञापन भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा का अल्टीमेटम है। भूपेश बघेल यदि आदिवासियों को किया अपना वादा पूरा नहीं करता तो मोर्चा उग्र आंदोलन करेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button