भाजपा आज से ‘विजय संकल्प सभा’ के माध्यम से पूरे देश में चुनाव अभियान का करेगी शंखनाद

अमित शाह आगरा एवं मुरादाबाद में विजय संकल्प सभा को करेंगे सम्बोधित

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी आज रविवार को पूरे देश में ‘विजय संकल्प सभा’ के माध्यम से चुनाव अभियान का शंखनाद करेगी। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित पार्टी के सभी शीर्ष नेता देश के अलग-अलग लोकसभा क्षेत्रों में ‘विजय संकल्प सभा’ को संबोधित करेंगे।

राजनाथ सिंह 24 मार्च को लखनऊ में

केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने अपने बयान में कहा कि अमित शाह 24 मार्च को आगरा एवं 26 मार्च को मुरादाबाद में विजय संकल्प सभा को सम्बोधित करेंगे वहीँ गृह मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता राजनाथ सिंह 24 मार्च को लखनऊ में और 26 मार्च को दिल्ली में विजय संकल्प सभा को सम्बोधित करेंगे।

इस कार्यक्रम के तहत नितिन गडकरी नागपुर (24 मार्च), सुषमा स्वराज- गौतमबुद्ध नगर (24 मार्च) और गाजियाबाद (26 मार्च), रविशंकर प्रसाद- पटना (24 मार्च) और पश्चिम बंगाल (26 मार्च), जे पी नड्डा- संभल (24 मार्च) और शाहजहांपुर (26 मार्च), पीयूष गोयल- बरेली (24 मार्च) और तमिलनाडु (26 मार्च) को जनसभा को संबोधित करेंगे।

प्रकाश जावड़ेकर 24 मार्च को भीलवाड़ा में और पूणे में 26 मार्च को तथा थावरचंद गहलोत- उज्जैन (24 मार्च) और टिहरी गढ़वाल (26 मार्च), धर्मेंद्र प्रधान- कटक (24 मार्च) और बालासोर (26 मार्च), नरेंद्र सिंह तोमर- ग्वालियर (24 मार्च) और मुरैना (26 मार्च), स्मृति ईरानी- कानपुर (24 मार्च) और भदोही-जौनपुर (26 मार्च), निर्मला सीतारमण- हैदराबाद (24 मार्च) और उड्डुपी (26 मार्च) को विजय संकल्प सभा को संबोधित करेंगे।

मुख्तार अब्बास नकवी- रामपुर (24 मार्च) और अमरोहा (26 मार्च), शिवराज सिंह चौहान- भोपाल (24 मार्च) और पुरी (26 मार्च) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 24 मार्च को आगरा में और 26 मार्च को वाराणसी एवं गांधीनगर में विजय संकल्प सभा को सम्बोधित करेंगे। नकवी ने कहा कि इसके अलावा देश के सभी लोकसभा क्षेत्रों में होने वाली विजय संकल्प सभाओं को केंद्रीय मंत्री, भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री, वरिष्ठ नेता सम्बोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का लेखा-जोखा

उन्होंने कहा कि इन ‘विजय संकल्प सभाओं के माध्यम से भाजपा अपने पांच वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का लेखा-जोखा देगी। वहीँ कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों द्वारा देश के सुरक्षा बलों के शौर्य-पराक्रम का अपमान करने की होड़ पर देश की जनता को आगाह करेगी।

Back to top button