महाराष्ट्र :बेनतीजा रही बीजेपी कोर कमेटी की बैठक, केंद्रीय नेतृत्व पर छोड़ा सरकार बनाने का फैसला

महाराष्ट्र में सियासी घमासान तेज हो गई है. बीजेपी ने राज्यपाल से मिलकर साफ कर दिया है कि वह अकेले सरकार नहीं बना सकती क्योंकि उनके पास पर्याप्त संख्या नहीं है.

मुंबई: महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी है. महाराष्ट्र में सरकार बनने को लेकर सभी पार्टी आपस में उठा-पटक कर रही है. हर एक-दूसरे पर सियासी दांव खेल रहे हैं. इस घमासान के दौरान देवेंद्र फडणवीस के आवास पर बीजेपी कोर कमेटी की बैठक हुई.

बैठक के बाद बीजेपी नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को सरकार बनाने का आमंत्रण किया था. क्योंकि महाराष्ट्र में हमलोग सबसे बड़ी पार्टी हैं. उन्होंने कहा कि हमलोग रविवार को 4 बजे फिर से मुलाकात करेंगे. इसके बाद हमलोग राज्यपाल के आमंत्रण पर निर्णय लेंगे.

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कोर कमेटी की दोपहर बाद हुई बैठक बेनतीजा रही. पार्टी नेताओं ने यह जानकारी दी. पूर्व मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि बैठक में राज्यपाल बी.एस.कोश्यारी के भाजपा को आमंत्रित करने से जुड़े विभिन्न पहलुओं को लेकर चर्चा की गई. कोश्यारी ने सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है.

हालांकि, बैठक का कोई नतीजा नहीं निकला और अब भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से निर्णय की प्रतीक्षा है. मुनगंटीवार ने कहा कि इसके बाद राज्यपाल के प्रस्ताव पर अंतिम फैसला लिया जाएगा और राजभवन को सूचित किया जाएगा. इस बीच शिवसेना के शीर्ष नेता उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे व अन्य ने पार्टी विधायकों के साथ बैठक की. शिवसेना के विधायक मौजूदा समय में उत्तर पश्चिम मुंबई के एक पांच सितारा होटल में ठहरे हुए हैं.

इसी तरह केंद्र व राज्य के कांग्रेस नेता अपने विधायकों के साथ अनौपचारिक सलाह कर रहे हैं. कांग्रेस के विधायक राजस्थान के जयपुर में एक सुरक्षित जगह पर हैं. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने मुंबई में मंगलवार को अपने सभी विधायकों के साथ बैठक की. राज्यपाल के शनिवार देर शाम भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के बाद से राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं.

वहीं इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता नवाब मलिक ने महाराष्ट्र में चल रहे उठा-पटक को लेकर बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था. उन्होंने राज्यपाल से कहा कि उनको सुनिश्चित करना चाहिए कि बीजेपी के पास सरकार बनाने के लिए बहुमत है या नहीं. अगर ऐसा कुछ नहीं है तो फिर खरीद-फरोख्त होगा.

नवाब मलिक ने कहा कि इसके बावजूद अगर बीजेपी राज्य में सरकार बनाती है, तो हम फ्लोर टेस्ट में भाजपा के खिलाफ मतदान करेंगे. यदि बीजेपी सरकार बनाने में नाकाम रहती है, तो राज्य के हित में हम वैकल्पिक सरकार बनाने का प्रयास करेंगे. इसके आगे नवाब मलिक ने कहा कि हम देखेंगे कि बीजेपी सरकार को गिराने के लिए शिवसेना सदन में बीजेपी के खिलाफ वोट करती है या नहीं. हम एक वैकल्पिक सरकार का समर्थन करने पर विचार करेंगे. हमने 12 नवंबर को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है. शरद पवार भी उस बैठक में शामिल होंगे.

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी और शिवसेना के बीच लगातार खींचतान चल रही है. शिवसेना जहां 50-50 के फॉर्मूला पर अड़ी है, वहीं बीजेपी सीएम पद देने के लिए तैयार नहीं है. इस बीच देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को सरकार बनाने के लिए न्योता दिया.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सबसे ज्यादा जीती थी. बीजेपी ने 105 सीटें हासिल की. इस हिसाब से बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी है, जिसे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शनिवार को सरकार के गठन के लिए बीजेपी को आमंत्रित किया है. इसके लिए राज्यपाल हाउस से देवेंद्र फडणवीस को चिट्ठी भेजी गई है. हालांकि, इस चिट्ठी पर बीजेपी ने कोई जवाब नहीं दिया है.

Back to top button