बंगाल हिंसा के खिलाफ भाजपाइयों ने दिया धरना, रमन सिंह ने कहा..

रिजल्ट के बाद ऐसी हिंसा इतिहास में आज तक नहीं हुई

रायपुर। बंगाल में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या और हमले के विरोध में छ्त्तीसगढ़ में भाजपा के नेता और कार्यकर्ता अपने अपने घरों के सामने धरने पर बैठे । पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह अपने बंगले में राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम और पूर्व सांसद अभिषेक सिंह के साथ धरने पर बैठे तो सांसद सन्तोष पांडे ने कवर्धा में अपने निवास में धरना दिया । भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय, अपनी पत्नी श्रीमती कौशल्या साय एवं भाजयुमो प्रदेश कार्यसमिति सदस्य दीपक अंधारे के साथ अपने निवास बगिया में धरने पर बैठे ।

इधर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अपने निवास के सामने, रायपुर शहर जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुन्दरानी एकात्म परिसर में कुछ कार्यकर्ताओं के साथ धरना दिया । भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने पदाधिकारियों के साथ अपने निवास के सामने धरना दिया । बंगाल हिंसा की कठोर शब्दों में निंदा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि प्रजातंत्र के इतिहास ये में सबसे कलंकित करने वाला दिन रहा, चुनाव रिजल्ट जारी होने के साथ ही जैसी हिंसा हुई भारत देश में आज तक नहीं हुई थी । सत्ता के मद में चूर ममता बनर्जी के गुंडें इस प्रकार का आतंक फैला रहे हैं । बंगला हिंसा के विरोध में आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक प्रदर्शन किया जा रहा है ।

पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि ममता बनर्जी पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए । उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी के इशारों पर लोकतंत्र की हत्या हो रही है । 12 से अधिक कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई सैकड़ों घर जला दिए गए। हजारों कार्यकर्ताओं को अपना घर छोड़कर भागना पड़ा है। बंगाल में हिंसा के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा अपने-अपने घरों के सामने धरना दिए जाने पर संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने कहा कि चुनाव परिणाम के बाद इस तरह की घटनाएं बंगाल में हो रही है तो वे इसका विरोध करते हैं । ये जो हो रहा है वह लोकतंत्र के खिलाफ है ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button