आचार संहिता में आंशिक छूट का विरोध भाजपा की विकास विरोधी मानसिकता : कांग्रेस

रायपुर: भारतीय जनता पार्टी द्वारा अचार संहिता में आंशिक छूट का विरोध उसकी विकास विरोधी मानसिकता को प्रदर्शित करता है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि राज्य में तीनों चरणों के लोकसभा के चुनाव सम्पन्न हो चुके है।

ऐसे में सामान्य प्रशासनिक कार्यो के लिए आचार संहिता में आंशिक छूट राज्य के जनता के हित में है। अन्य राज्यों में चुनाव और मतगणना में अभी एक महीने का समय है तब तक आचार संहिता के नाम पर सरकार के दैनंदिनी के सामान्य कार्यो में रोक से राज्य की जनता को परेशानी के अलावा कुछ भी हासिल नही होने वाला था।

राज्य चुनाव आयोग का रोजमर्रा के कार्यो से अचार संहिता से बंदिश हटाना जनहित में है। भाजपा बौखलाहट के कारण और पूर्वाग्रहवश में इसका विरोध कर रही है । भाजपा चाहती है आचारसंहिता एक महीने तक और लगी रहे ताकि जन सामान्य परेशान होते रहे।

भाजपा बताए कि यदि छत्तीसगढ़ में सामान्य प्रशासनिक प्रक्रियाएं शुरू हो जाएगी तो इससे देश के दूसरे राज्यो में कैसे चुनाव प्रभावित होगा? नियम कानून व्यवस्था बनाने के लिए होते है न कि लोगो को परेशान करने के लिए। भारतीय जनता पार्टी नियम कानून की आड़ में आम जनता को परेशान करना चाहती है।

Back to top button