छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश एवं राजस्थान में भाजपा की सत्ता : अमित शाह

शाह ने पार्टी के शक्ति केन्द्र कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया

रायपुरः

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की तैयारी में पहुंचे भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश एवं राजस्थान में भाजपा की सत्ता में वापसी तय है, लेकिन वह मामूली बहुमत की बजाय दो तिहाई बहुमत को हासिल करने के लिए ताकत लगाए हुए है।

शाह ने पार्टी के शक्ति केन्द्र कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा कि वह इन तीनों राज्यों में सरकार बनाने का दिन में सपना देख रहे है।

शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता चरण पर है और इसके बूते पर आज देश के 23 राज्यों में भाजपा की सरकार है। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष होने वाले चुनाव में भाजपा ओडिशा एवं पश्चिम बंगाल में भी सरकार बनायेंगी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सिकुड़ गई है लेकिन उसके बाद भी राहुल आए दिन मोदी जी से चार साल का हिसाब मांगते रहते है। उन्हें अपना डेटा दुरूस्त करने की जरूरत है। उन्होंने चार वर्ष में मोदी सरकार की विभिन्न उपलब्धियों का जिक्र करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से इसे लोगो के बीच प्रचारित करने को कहा।

पूर्ववर्ती सरकारों में सांसदो के रसोई गैस (एलपीजी) के मिलने वाले 25 कूपनों का जिक्र करते हुए कहा कि एक दौर में गैस कनेक्शन हासिल करना एक उपलब्धि थी, पर मोदी सरकार ने अन्तिम घर से रसोई गैस कनेक्शन देना शुरू किया है।

उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना की परिकल्पना मोदी जी ने की, क्योंकि उन्हें जमीनी हकीकत का एहसास है कि गरीब मां-बहनों को चूल्हे पर खाना बनाना कितना मुश्किल होता है।

शाह ने आयुष्मान भारत योजना को भी देश के करोड़ो गरीब परिवारों के लिए वरदान बताते हुए कहा कि कांग्रेस को कभी गरीबों की याद नही आई। उन्होंने कहा कि अब किसी गरीब का माता पिता-भाई धन के अभाव में दम नही तोड़ेगा।

पांच लाख तक के कैशलेस इलाज की व्यवस्था मोदी जी की ही सोच का नतीजा है। उन्होंने असम में नागरिकता को लेकर भी कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि वहां पर 40 लाख घुसपैठियों की पहचान की गई है, लेकिन अब इस मसले को लेकर राजनीति कर रही है।

उन्होंने कहा कि राजनीति करने के बहुत मुद्दे है पर वोटबैक की राजनीति के चलते वह इस बारे में स्पष्ट दृष्टिकोण नही अपना रही है। कांग्रेस को घुसपैठियों के बारे में अपने दृष्टिकोण को साफ करना चाहिए।

शाह ने छत्तीसगढ़ का जिक्र करते हुए कहा कि पार्टी तीन बार से यहां सत्ता में है, और मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की सरकार द्वारा राज्य के विकास एवं गरीब एवं कमजोर वर्गों के उत्थान की चलाई गई योजनाओं से सत्ता में चौथी बार वापसी भी तय है, पर तीन बार की तरह पांच छह सीटों का बहुमत नहीं चाहते।

उन्होंने कहा कि इस बार 65 सीटें जीतने का उन्होंने लक्ष्य तय किया है, और इससे कम सीटों पर जीत नही होनी चाहिए। इसके लिए कार्यकर्ताओं को जीजान से जुटना होगा।

मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने अपने संबोधन में आश्वस्त किया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा 65 सीटों पर जीत का लक्ष्य पूरा किया जायेगा। इस मौके पर पार्टी के राज्य प्रभारी अनिल जैन, पार्टी महासचिव सरोज पाण्डेय,प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरम कौशिक भी मौजूद थे।

Back to top button