भाजपा का सवाल: कांग्रेस साधु-साध्वियों की मौत की कामना क्यूं कर रही ?

रायपुर: भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष पूजा विधानी ने सांसद (राज्यसभा सदस्य) छाया वर्मा द्वारा गंगा सफाई को लेकर केन्द्रीय मंत्री साध्वी उमा भारती के बारे में दिए गए बयान पर एतराज दर्ज कराते हुए इसे कांग्रेस का एक और झूठ बताया है।

विधानी ने कहा कि कांग्रेस नेता सच से मुंह चुरा रहे हैं, लेकिन देश की जनता कांग्रेस को सच के आईने का सामना करने के लिए विवश कर देगी। महिला मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष पूजा विधानी ने कहा कि कांग्रेस सांसद ने साध्वी उमा भारती से गंगा-सफाई के बहाने यह पूछकर संत-साधु समाज का अपमान किया है कि उमा भारती गंगा मैया में डूबकर कब जल-समाधि लेंगीं?

यह सवाल कांग्रेस का सच से मुंह चुराना और झूठ का भ्रम फैलाना है। जिस गंगा-सफाई को दुनिया ने प्रत्यक्ष अनुभव किया है, जिस गंगा मैया की स्वच्छ-निर्मल लहरों पर उनकी नई-नवेली महासचिव प्रियंका वाड्रा ने खुद चुनावी-नौका विहार किया है, जिस गंगाजी के जल का आचमन खुद प्रियंका वाड्रा ने किया है,

प्रयागराज के ऐतिहासिक व भव्य कुंभ में पहुंचे कोटि-कोटि साधु-संतों व भक्तों ने गंगा-सफाई को प्रत्यक्ष अनुभव किया है, उस गंगा-सफाई को नकारने का निर्लज्ज राजनीतिक आचरण कांग्रेस के लोग ही प्रस्तुत कर सकते हैं।

उन्होंने सवाल किया कि आखिर कांग्रेस के लोग जल समाधि की मांग करके साधु-साध्वियों की मौत की कामना क्यों करने लगे हैं? ऐसी कामना करके कांग्रेसी किसका हित साधना चाहते हैं? क्या पिछड़े वर्ग का नया और सशक्त नेतृत्व उभरना कांग्रेसियों की चाटुकारिता को हजम नहीं होता?

भाजपा महिला मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि जिस राफेल सौदे को लेकर घोटाले की बात कहकर कांग्रेस सांसद ने सवाल किया है, तो उन्हें सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले को एक बार पढ़ लेना चाहिए, जिसमें इस सौदे में कोई गड़बड़ी सुप्रीम कोर्ट ने नहीं पाई थी।

इसी फैसले पर पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई हो रही है जिसमें कांग्रेस के जमानतशुदा राष्ट्रीय अध्यक्ष को अपनी टिप्पणी के लिए सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना का नोटिस थमाया है। इसलिए राफेल को लेकर जब तक तथ्य और सत्य सामने नहीं आता, कांग्रेस सांसद छाया वर्मा इस पर टिप्पणी या सवाल करके सुप्रीम कोर्ट की अवमानना न करें।

Back to top button